नई दिल्ली. UIDAI: भारत विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने जोर देकर कहा है कि स्कूल आधार की कमी के कारण छात्रों को प्रवेश से इनकार नहीं कर सकते हैं. यूआईडीएआई ने कहा कि अगर स्कूल आधार कार्ड नहीं होने के आधार पर एडमिशन नहीं करते हैं तो ये गलत है. यूआईडीएआई ने कहा कि उसने आधार नामांकन के लिए अपने परिसर में विशेष शिविरों की सुविधा के लिए स्थानीय बैंकों, डाकघरों, राज्य शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन के साथ समन्वय करने के लिए स्कूलों को भी प्रोत्साहित किया है.

यूआईडीएआई ने राज्यों के मुख्य सचिवों को संबोधित एक आधिकारिक परिपत्र में कहा कि ऐसे मामलों के बारे में पता है जहां कुछ स्कूल आधार कार्ड नहीं होने तके कारण बच्चों को एडमिशन नहीं दे रहे हैं. पीटीआई द्वारा जारी परिपत्र में कहा गया है यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि आधार के लिए किसी को भी उचित लाभ या अधिकारों से वंचित / अस्वीकार नहीं किया जा सकता है.

आधार कार्ड जारी करने वाले निकाय ने चेतावनी देते हुए कहा कि इस प्रकार के मामले अमान्य और कानून के विरुद्ध हैं. यूआईडीएआई ने कहा कि किसी भी बच्चे को आधार की कमी के कारण प्रवेश और अन्य सुविधाओं से इनकार नहीं किया जाना चाहिए. प्रवेश के दौरान आधार संख्या पर जोर देने वाले स्कूलों के कारण इन दिनों माता-पिता और छात्रों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. यूआईडीएआई के इस आदेश से ऐसे माता-पिता और छात्रों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है.

RPSC Result 2018: आरपीएससी कॉलेज लेक्चरर हिंदी परीक्षा 2018 का परिणाम घोषित @rpsc.rajasthan.gov.in

RRB Group D Recruitment Exam 2018: 17 सितंबर को होगी परीक्षा, आजमाएं ये टिप्स एग्जाम में हो जाएंगे पास

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App