नई दिल्ली. यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन UGC ने सूर्य नमस्कार को लेकर एक नोटिफिकेशन जारी किया है। जिसमें देश के सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटी से अनुरोध किया गया है कि वे गणतंत्र दिवस Republic day के अवसर पर तिरंगे के सामने सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में हिस्सा लें। बता दें कि राष्ट्रीय खेल महासंघ की ओर से सूर्य नमस्कार की परियोजना बनाई गई है जिसके तहत 26 जनवरी को तिरंगे के सामने इस कार्यक्रम को प्रदर्शित किया जाएगा।

दिसंबर 2021 में शुरु हुई परियोजना

UGC ने 29 दिसंबर 2021 को इस परियोजना की घोषणा की थी जिसके अंतर्गत  75 करोड़ सूर्य नमस्कार करने का कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद 1 जनवरी 2022 से यह परियोजना शुरू हो गई और 7 फरवरी 2022 तक जारी रह सकती है। भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में सरकार के चल रहे अमृत महोत्सव का ये परियोजना भी एक हिस्सा है।

सूर्य नमस्कार पर आपत्ति

यूजीसी ने भले ही सूर्य नमस्कार को लेकर सर्कुलर जारी किया है। लेकिन ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को इस परियोजना पर आपत्ति है। बोर्ड ने एक बयान जारी करते हुए सरकार से इस आदेश को वापस लेने का अनुरोध किया है। बोर्ड के मुताबिक सूर्य नमस्कार का यह कार्यक्रम सूर्य देवता की पूजा करने के समान है जबकि इस्लाम में किसी भी देवता को पूजने की मनाही है। बयान में कहा गया है कि हमारा संविधान हमें धार्मिक स्वतंत्रता देता है और किसी भी सरकारी शिक्षण संस्थान में विशेष धर्म की शिक्षाओं और मान्यताओं के आयोजन की भी अनुमति नहीं है।

यह भी पढ़ें:

Indian Railway Recruitment 2022: भारतीय रेलवे में निकली स्पोर्ट्स कोटे के तहत भर्तियां, योग्य उम्मीदवार शीघ्र करें आवेदन

Big Bet before Election of Akhilesh : चुनाव से पहले अखिलेश का बड़ा दांव, चलेगा नाम लिखवाओ अभियान

 

SHARE