नई दिल्ली, आज 25 जनवरी है, देशभर में इस दिन को राष्ट्रीय मतदाता दिवस National Voter Day के रुप में मनाया जाता है। ऐसा इसलिए, क्योंकी साल 1950 में आज ही के दिन भारतीय चुनाव आयोग की स्थापना की गई थी। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में वोट देने का अपना ही महत्व है। ऐसे में भारतीय चुनाव आयोग Indian Election commission देश की जनता को उसका ये अधिकार दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। लोकतंत्र के इस त्योहार के दिन वोटरों को उनके कर्तव्यों के प्रति जागरुक किया जाता है।

भारत का 12वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस

भारत निर्वाचन आयोग इस साल 12वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस voter day मना रहा है। इस दिवस को मनाने की शुरुआत 25 जनवरी 2011 को तात्कालिक राष्ट्रपति प्रतिभा देवी पाटिल द्वारा की गई थी। तभी से ये सिलसिला साल दर साल चला आ रहा है। हर साल मतदाता दिवस पर एक थीम रखी जाती है। इस साल की थीम है – चुनावों को समावेशी, सुलभ और सहभागी बनाना। आम चुनाव के बाद राष्ट्रीय मतदाता दिवस लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार बन गया है।

कैसे मनाते हैं ये दिन

इस दिन चुनाव आयोग देश भर के सभी मतदान केंद्र वाले क्षेत्रों में 18 साल की उम्र वाले नए वोटरों की पहचान करता है। पात्र मतदाताओं का नाम वोटर लिस्ट में दर्ज कर उन्हें निर्वाचन फोटो पहचान पत्र सौंपे जाते हैं। हर साल वोटर डे के दिन देश के सभी वोटरों को अपने मताधिकार का प्रयोग करने की शपथ भी दिलाई जाती है। ताकि एक नागरिक के तौर पर वे लोकतंत्र की रक्षा के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें।

यह भी पढ़ें :

Rashtriya Bal Puraskar 2022: पीएम मोदी ने 29 बच्चों को दिए डिजिटल प्रमाण पत्र, कहा- साहस और संकल्प आज भारत की पहचान

Samajwadi Party Release 2nd List of Candidate: यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने जारी की 159 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, जेल में बंद आजम खान का नाम भी लिस्ट में शामिल

 

SHARE