भोपाल. MCU PhD Admission 2019: माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (MCU) में पीएचडी में दाखिले के लिए कुछ तक रोक लगा दी गई है यही कारण है कि पिछले वर्ष की एंट्रेंस परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को पीएचडी में प्रवेश नहीं दिया गया है. माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (MCU) यूनिवर्सिटी की तरफ से पीएचडी की प्रवेश परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को दो बार कोर्स वर्क कराने का फैसला लिया गया था, लेकिन कुछ कारणों की वजह कई अभ्यर्थियों का कोर्स वर्क अभी तक पूरा नहीं हो सका, जिसकी वजह से अब विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से इस मामले की जांच कराई जा रही है. माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी की स्थापना 1991 में की गई थी. माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी की स्थापना हुए पूरे 27 वर्ष से हो चुके हैं, लेकिन रिपोर्ट्स की मानें तो विश्वविद्यालय की तरफ से इतने वर्षों में सिर्फ 53 पीएचडी की डिग्रीयां दी गई है.

सवाल उठता है कि आखिर क्यों इतने वर्षों में पीएचडी की इतनी कम डिग्रीयां क्यों आवंटित की गई. हालांकि मामला कुछ भी हो, लेकिन सोचने पर जरूर मजबूर करेगा, क्योंकि माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी की स्थापना ही राज्य में पत्रकारिता की गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के देने लिए किया गया था, लेकिन ये कुछ और ही इशारा कर रहे हैं. राज्य में पत्रकारिता का कोर्स करने वाले अभ्यर्थियों के लिए एमसीयू एक बेहतरीन ऑप्शन है. यहां पर मध्यप्रदेश राज्य से आने वाले अभ्यर्थियों के लिए 27 प्रतिशत सीटें आरक्षित हैं. माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (MCU) चतुर्वेदी के भोपाल के अलावा चार अन्य (जबलपुर, अमरकंटक, खांडवा, नोएडा) कैंपस भी संचालित किए जाते हैं.

हालांकि माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (MCU) की तरफ से इस वर्ष यानी कि 2019 में पीएचडी के कोर्सों में प्रवेश दिया जाएगा या नहीं इस बात को लेकर यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है.

Government Jobs July 2019: जुलाई में बीपीएससी, डीयू, उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग सहित अन्य भर्तियों के लिए जल्द करें आवेदन

IIT Delhi Recruitment 2019: आईआईटी दिल्ली का एग्जिक्यूटिव इंजीनियर समेत कई पदों पर भर्ती नोटिफिकेशन जारी, ऐसे करें अप्लाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App