मध्य प्रदेश. ग्रामीण छात्राओं के बेहतर भविष्य को देखते हुए मध्य प्रदेश Madhya pradesh में ‘गांव की बेटी’ नामक स्कॉलरशिप Scholarship की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत गांव की वे बेटियां जिन्होंने 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरी की है, उन्हें अपनी आगे की उच्च शिक्षा जारी रखने के लिए यह छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। बता दें कि इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन प्रक्रिया जल्द ही बंद होने वाली है। ईसलिए जिसने अभी तक आवेदन नहीं किया है,  वो जल्द से जल्द स्टेट स्कॉलरशिप 2022 पोर्टल पर जाकर रजिस्टर करा सकते हैं। इसमें आवेदन की अंतिम तिथी  20 जनवरी 2022 है।

‘गांव की बेटी’ स्कॉलरशिप का उद्देश्य

गांव की बेटी Gaon Ki Beti स्कॉलरशिप से प्राप्त राशि को गांव की बेटियां अपनी अपनी पढ़ाई में लगाएंगी। इससे उनकी पढ़ाई सम्बन्धी समस्याएं दूर होंगी और वे आत्मनिर्भर बन सकेंगी। इसी दूरदर्शिता के साथ मध्यप्रदेश उच्च शिक्षा विभाग ‘गांव की बेटी’ योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं हर महीने 500 रुपए की राशि प्रदान करता है। यह स्कॉलरशिप योजना 10 महीने तक लागू रहती है। यानि बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए कुल 5000 रुपये दिए जाते हैं।

कैसे करें अप्लाई?

मध्य प्रदेश की ग्रामीण छात्राओं को स्कॉलरशिप में आवेदन करने के लिए सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट scholarshipportal.mp.nic.in पर जाना होगा। इसके बाद Gaon Ki Beti Yojna का लिंक दिखाई देगा। अब इस लिंक को क्लिक करते हुए इसमें Log in और Registered के लिंक पर जाएं। एक बार सफलतापूर्वक Registration कर लेने के बाद आवेदन फॉर्म भर सकते हैं।

आवश्यक योग्यता एवं शर्तें

‘गांव की बेटी’ स्कॉलरशिप का फायदा उठाने के लिए छात्रा को मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र की स्थायी निवासी होना चाहिए। इसके अलावा छात्रा ने 12वीं कक्षा 60% या उससे अधिक अंकों से उत्तीर्ण की हो। बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ना सिर्फ ‘गांव की बेटी’ स्कॉलरशिप के जरिए ग्रामीण परिवेश की बालिकाओं को मदद देती है बल्कि ‘प्रतिभा किरण योजना’ के अंतर्गत  शहरी क्षेत्र में पढ़ने वाली उन मेधावी छात्राओं को सहायता दी जाती है जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।  

यह भी पढ़ें :

BSF Constable Bharti 2022: 10वीं पास युवाओं के लिए बीएसएफ में निकली 2788 पदों पर वैकेंसी, सैलरी मिलेगी 69,100 रुपये

Akhilesh Yadav an Incarnation of Lord Vishnu : अखिलेश को माना विष्णु अवतार, सीएम बनने तक अन्न त्यागा ये परिवार

 

SHARE