JEE Main Update: इंजीनियरिंग का सपना देख रहे छात्रों के लिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री की ओर से की गई घोषणा उनकी तैयारी को आसान कर सकती है. शिक्षामंत्री ने ट्वीट के जरिये कहा है कि यूजी कोर्सेस में एडमिशन के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन मेन (JEE Main) अब रीजनल भाषाओं में भी दे पाएंगे.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 (NEP) के तहत ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड (JAB) ने फैसला लिया है कि जेईई मेन को देश की अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी कराया जाएगा. इस बारे में उन्होंने दो ट्वीट किए हैं, दूसरे में लिखा है कि यह परीक्षा उन राज्यों की क्षेत्रीय भाषाओं में भी कराई जाएगी जहां स्टेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन क्षेत्रीय भाषाओं में हुई परीक्षा के आधार पर लिए जाते हैं. ऐसे राज्यों की भाषाएं अब जेईई मेन परीक्षा में शामिल की जाएंगी.

बता दें कि अभी तक जेईई मेन परीक्षा हिन्दी, इंग्लिश और गुजराती भाषाओं में आयोजित की जाती रही है. कहा जा रहा है जेईई मेन में क्षेत्रीय भाषाएं शामिल होने से इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश के लिए तैयारी कर रहे हजारों स्टूडेंट्स को परीक्षा व एडमिशन में सुविधा होगी. अब वो जेईई मेंस परीक्षा के लिए अपनी सुविधानुसार प्रश्नपत्र की भाषा का चुनाव कर सकेंगे. वहीं मेडिकल कॉलेजों में दाखिला दिलाने वाली परीक्षा नीट 11 भाषाओं में आयोजित होती है.

7th Pay Commission: दिवाली से पहले मोदी सरकार का गिफ्ट, 30 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को मिलेगा बोनस

IBPS Recruitment 2020: IBPS क्लर्क के लिए फिर शुरू हुआ रजिस्ट्रेशन, ibps.in

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर