नई दिल्ली. Happy Children’s Day 2019: 14 नवंबर को देश में बाल दिवस यानी चिल्ड्रन्स डे मनाया जा रहा है. भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जन्म जयंती को हर साल बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. बच्चे नेहरू से बहुत प्यार करते थे. पंडित नेहरू को भी बच्चों से काफी लगाव था. इसलिए उनकी जन्म जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया गया था. बाल दिवस पर सभी स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रम और भाषण, क्विज जैसे आयोजन होते हैं.

Happy Children’s Day 2019 Speech: बाल दिवस पर भाषण-
बाल दिवस यानी चिल्ड्रन्स डे वैसे तो पंडित जवाहर लाल नेहरू की जन्म जयंती के दिन मनाया जाता है. मगर इसका मुख्य उद्देश्य लोगों में शिक्षा और बाल अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाना है. भारत में जहां अभी भी एक तिहाई लोग अशिक्षित हैं, ऐसे में बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरूक करना जरूरी है.

रोटी कपड़ा और मकान की तरह शिक्षा भी हर व्यक्ति का मूल अधिकार होना चाहिए. पंडित नेहरू ने बच्चों में शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाने का काम किया था. बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू पुकारा करते थे. बाल दिवस के मौके पर स्कूलों और अन्य जगहों पर शैक्षणिक और प्रेरणात्मक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं.

Happy Children’s Day 2019 Essay: बाल दिवस पर निबंध-
चिल्ड्रन्स डे यानी बाल दिवस भारत में साल 1956 से मनाया जा रहा है. पहले बाल दिवस हर साल 20 नवंबर को मनाया जाता था. मगर पंडित जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद बाल दिवस उनकी जन्म जयंती के दिन यानी 14 नवंबर से मनाया जाने लगा.

बाल दिवस के दिन पंडित नेहरू को याद किया जाता है. इस दिन बच्चों को ढेर सारा प्यार दिया जाता है. छोटे बच्चों को खिलौने, चॉकलेट आदि दिए जाते हैं. बाल दिवस को बच्चे खुशी-खुशी मनाते हैं. बाल दिवस मनाने का उद्देश्य ये ही है कि बच्चों की देखभाल कर उन्हें प्यार दें और शिक्षित करें.

Happy Children’s Day 2019 Poem: बाल दिवस पर कविता-
बाल दिवस यानी चिल्ड्रन्स डे पर कई कवियों ने कविताएं लिखीं हैं, कुछ अच्छी कविताएं आप यहां देख सकते हैं-

1. बाल-दिवस है आज साथियो, आओ खेलें खेल .

जगह-जगह मचा है खुशियों का सैलाब.
जन्म जयंती चाचा नेहरू की फिर आई है आज.

उन जैसे नेता पर सारे भारत को है शान.
वह दिल से भोले थे इतने, जितने हम नादान,
बूढ़े होने पर भी मन से वे थे सदा जवान.

हम उनसे सीखे मुस्कुराना, सारे संकट झेस.
हम सब मिलकर क्यों न रचाएं सुख संसार
भाई-भाई जहां सभी हों, रहे छलकता प्यार.

नहीं घृणा हो किसी हृदय में, नहीं द्वेष का वास,
आंखों में आंसू न कहीं हों, हो अधरों पर हास.
झगड़े नहीं परस्पर कोई, हो आपस में मेल.

पड़े जरूरत अगर, पहन लें हम वीरों का वेश,
प्राणों से भी बढ़कर प्यारा हमको रहे स्वदेश.

मातृभूमि की आजादी हित हो जाएं बलिदान,
मिट्टी मे मिलकर भी माँ की रखे ऊंची शान.

दुश्मन के दिल को दहला दें, डाल नाक-नकेल.
बाल दिवस है आज साथियो, आओ खेलें खेल.

2. सारे जग को पाठ पढ़ाया,
शांति और अमन का.
भारत मां का मान बढ़ाया,
था यह ऐसा लाल चमन का,

एक गुलाब ही सब पुष्पों में,
इनको लगता प्यारा.
भारत मां का लाल यह,
सबसे ही था न्यारा.

3. वो यारों की यारी में सब भूल जाना,
डंडे से गिल्ली को दूर उड़ाना,
वो होमवर्क से जी चुराना,
और टीचर के पूछने पर बहाने बनाना,
मुश्किल है बचपन को भुलाना,
वो एग्जाम में रट्टे लगाना,
फिर रिजल्ट के डर से घबराना,
वो दोस्तों के साथ साईकिल चलाना,
वो छोटी-छोटी बातो पर रूठ जाना,
मुश्किल है बचपन को भुलाना.

Also Read ये भी पढ़ें-

बाल दिवस पर देखें बच्चों के ये मजेदार फनी जोक्स, हंसते हंसते हो जाएंगे लोट पोट

बाल दिवस पर ये खूबसूरत हिन्दी शायरी भेज इस दिन को बनाए और भी खास

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App