नई दिल्ली. GATE 2020: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) दिल्ली ने ग्रैजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग 2020 यानी गेट 2020 के लिए आवेदन करने वाले छात्रों के लिए एक महत्वपूर्ण नोटिस जारी किया है. आईआईटी दिल्ली द्वारा जारी यह नोटिस फेक संदेशों को लेकर है. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) दिल्ली ने नोटिस में गेट 2020 के लिए आवेदन करने वाले छात्रों को फेक संदेशो से सावधान रहने को कहा है. इस संबंध में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर मौजूद नोटिस को डाउनलोड कर सकते हैं. नोटिस में इस संबंध में विस्तृत जानकारी दी हुई है.

बता दें कि हाल के कुछ दिनों में गेट 2020 एग्जाम से जुड़ा एक संदेश तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वायरल हो रहे संदेश में अपना विवरण भरने के लिए एक लिंक दिया गया है और दावा किया गया है कि यह गेट 2020 की स्पेशल डिजाइन टेस्ट सीरीज है. आईआईटी दिल्ली ने अपने नोटिस में कहा है कि संस्थान में ऐसा कोई लिंक जारी नहीं किया है और ना ही कोई स्पेशल डिजाइन की गई टेस्ट सीरीज ही अपलोड की गई है. इसलिए छात्र इन अफवाहों पर ध्यान ना दें.

फेक संदेशों से दूर रहने को अलावा आईआईटी दिल्ली ने इसके साथ ही करेक्शन विंडों की आखिरी तारीख को बढ़ाने की सूचना भी जारी की है. अब छात्र 6 दिसंबर 2019 तक अपने एप्लिकेशन फॉर्म में सुधार कर सकते हैं. इसके अलावा आईआईटी दिल्ली ने उन उम्मीदवारों की भी लिस्ट जारी कर दी है, जिनका एप्लिकेशन फिलहाल होल्ड पर रखा गया है. इन सभी छात्रों को सलाह है कि वह 6 दिसंबर शाम 5 बजे तक अपने फॉर्म में जरूरी सुधार कर लें.

आईआईटी दिल्ली द्वारा जारी लिस्ट में ऐसे उम्मीदवार शामिल किए गए हैं, जिनकी श्रेणी दिव्यांग/डिस्लेक्सिया (मानसिक विकार जिससे पढ़ने लिखने में कठिनाई हो) सर्टिफिकेट वैध ना हो. सर्टिफिकेट वैध ना होने के केस में ऐसे उम्मीदवारों को जनरल कैंडिडेट्स के रूप में देखा जाएगा. छात्रों को 750 रुपए एडमिशन फीस के रूप में जमा करने होंगे. हालांकि महिला उम्मीदवारों को कोई शुल्क नहीं देना होगा. जिन उम्मीदवारों की फोटो और उनका हस्ताक्षर, दिशा निर्देशों के अनुसार नही होगा उनका फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा.

आईआईटी दिल्ली ने उम्मीदवारों की यह सूची आधिकारिक वेबसाइट gate.iitd.ac.in पर जारी की है. इन सभी छात्रों को सलाह दी जाती है कि वह समय रहते अपने एप्लिकेशन फॉर्म में सुधार कर लें. क्योंकि अगर ऐसा नहीं कर पाते हैं तो उनका आवेदन फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जाएगा. 1,2,8 और 9 फरवरी को आयोजित होने जा रही है गेट 2020 परीश्रा के लिए 3 जनवरी 2020 को एडमिट कार्ड जारी कर दिया जाएगा.

BPNL Recruitment 2019: बीपीएनएल ने स्किल सेंटर इंचार्ज और स्किल डेवलपमेंट ऑफिसर के पदों पर निकाली बंपर वैकेंसी, bharatiyapashupalan.com पर करें अप्लाई

Kendriya Vidyalaya Recruitment 2019: केंद्रीय विद्यालयों में शिक्षकों के 6000 पद खाली, जल्द जारी होगा भर्ती नोटिफिकेशन kvsangathan.nic.in

जानिए कौन करता है गेट 2020 एग्जाम का आयोजन ?

ग्रैजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग यानी गेट एग्जाम एक राष्ट्रीय स्तर का पीजी इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम है. गेट 2020 एग्जाम का आयोजन 1, 2, 3, 8 और 9 फरवरी 2020 को किया जाएगा. देश की सारी निजी और अर्द्धसरकारी कंपनियों द्वारा आयोजित जूनियर इंजीनियर और अन्य भर्ती परीक्षा में गेट स्कोर को वरीयता दी जाती है.

गेट एग्जाम का क्यों किया जाता है आयोजन ?

गेट एग्जाम का आयोजन उम्मीदवारों की इंजीनियरिंग और साइंस विषय में जानकारी को परखने के लिए किया जाता है. हर वर्ष लाखों इंजीनियरिंग ग्रैजुएट विश्वविद्यालयों और इंजीनियरिंग कॉलेज से पासआउट होते हैं.

क्या गेट एग्जाम कठिन होता है ?

दरअसल एग्जाम कोई भी हो हर एग्जाम उसके लिए कठिन होता है जिसने एक रणनीति के तहत तैयारी नहीं की होती है. अगर कोई उम्मीदवार सही रणनीति और फोकस के साथ तैयारी करता है तो वह गेट एग्जाम में अच्छे अंक हासिल कर सकता है.

जानिए गेट एग्जाम या गेट स्कोर के क्या हैं फायदें ?

बता दें कि गेट स्कोर न सिर्फ आपको मास्टर डिग्री के बराबर योग्य बना देता है. साथ ही यह आपके के लिए कई कंपनियों में नौकरी के दरवाजे भी खोल देगा. इंजीनियरिंग प्रोफेसर समेत अन्य टेक्निकल पदों के लिए आयोजित की गई भर्ती परीक्षाओं में गेट स्कोर हासिल करने वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाएगी.