नई दिल्ली. आईआईटी, मद्रास GATE 2019 के एप्लीकेशन फॉर्म में सुधार करने का विकल्प दे रहा है. आईआईटी, मद्रास ने घोषणा की है कि GATE 2019 के आवेदन में सुधार के लिए 24 सितंबर से विंडो खोल दी जाएगी. इससे अभ्यर्थियों को आवेदन पत्र भरते समय की गई त्रुटियों का सुधार करने का मौका मिलेगा. जिन अभ्यर्थियों ने आवेदन भरते समय गलतियां कर दी हैं वे 24 सितंबर से इसमें सुधार कर सकते हैं. अभ्यर्थियों के लिए करेक्शन करने का यह आखिरी मौका होगा.

आवेदकों को विभिन्न क्षेत्रों के आवेदन में सुधार के लिए अलग-अलग डेट दी जाएंगी. अभ्यर्थी GOAPS की वेबसाइट पर विजिट कर अपने विषय में सुधार की तिथि जान सकेंगे. इसके लिए एक समय सीमा निर्धारित होगी जिससे वे आवेदन पत्र ठीक कर पाएंगे. जारी किए गए नोटिस के अनुसार, गेट 2019 आवेदन पत्र के लिए खोले गए सुधार विंडो के माध्यम से केवल कुछ विवरण संपादित किए जा सकते हैं.

जिन विवरणों को संपादित किया जा सकता है वो हैं… उम्मीदवार का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, पीडब्ल्यूडी स्थिति, डिस्लेक्सिया, और अन्य समान सीखने की अक्षमता जानकारी, माता-पिता या अभिभावक के विवरण, कॉलेज का नाम, रोल नंबर, परीक्षा पत्र और परीक्षा शहर. हालांकि, इनमें से कुछ विवरणों को संपादित करने का समय जारी किया गया है, जबकि अन्यों की बाद में घोषणा की जाएगी.

दस्तावेज से मेल खाते हों विवरण

गेट 2019 के आवेदन पत्र में सुधार के लिए स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि आपके रोल नंबर या पंजीकरण संख्या के साथ नाम, जन्म तिथि, माता-पिता या अभिभावक के विवरण और कॉलेज या संस्थान का नाम जैसे कुछ विवरण सबमिट किए गए दस्तावेज प्रमाण से मेल खाते हों. लिंग बदलने की स्थिति में धनराशि का भुगतान करना होगा. अगर किसी फीमेल अभ्यर्थी ने गलती से मेल कर दिया है और उसे सुधार करना है तो फ्री चेंज किया जा सकता है. अगर किसी मेल अभ्यर्थी ने पहले फीमेल कैटेगरी सेलेक्ट कर दी है तो उसके सुधार के लिए 750 रुपये चुकाने होंगे.

वर्ग चेंज करने में देना होगा शुल्क

यदि अभ्यर्थी एससी / एसटी से जनरल / ओबीसी में श्रेणी बदलना चाहता है और जनरल / ओबीसी से एससी / एसटी में श्रेणी बदलना चाहता है तो उसे कोई धनराशि रिफंड नहीं होगी. इसके अलावा, पीडब्ल्यूडी या विकलांगता की स्थिति से संबंधित विवरणों के लिए, उम्मीदवार को वैध प्रमाण जमा करने की आवश्यकता है, विकलांगता की स्थिति को प्रमाणित करना. “नहीं” से “हां” तक पीडब्ल्यूडी स्थिति बदलने के लिए, उम्मीदवार को धनवापसी राशि प्रदान नहीं की जाएगी. इसके विपरीत करने के लिए (यानी “हां” से “नहीं” स्थिति बदलना) उम्मीदवार को निर्दिष्ट राशि का भुगतान करना होगा.

विलंब शुल्क के साथ भी कर सकते हैं सुधार

गेट 201 9 के लिए आवेदन प्रक्रिया पहले से ही गोप्स वेबसाइट पर शुरू हो चुकी है. इच्छुक उम्मीदवार 21 सितंबर, 2018 को अंतिम तिथि से पहले अपने फॉर्म भरना शुरू कर सकते हैं और अपना पूरा फॉर्म जमा कर सकते हैं. आखिरी तारीख के बाद उम्मीदवार विस्तारित अवधि में 01 अक्टूबर, 2018 तक 500 रुपये के विलंब शुल्क के साथ फॉर्म भर सकते हैं.

CBSE CTET 2018: सीटीईटी आवेदन में ऑनलाइन करेक्शन की प्रक्रिया बंद, B.Ed पेपर I का शुल्क @ ctet.nic.in पर जमा करें

UGC NET 2018 Exam: एनटीए ने किया साफ, यूजीसी नेट रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App