नई दिल्ली. देश भर में कोरोना का कहर अब थमने को है, देश की राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मामलों में कमी देखने को मिल रही है. ऐसे में अब राजधानी में सभी स्कूलों को खोलने ( Delhi Schools Reopening ) का फैसला लिया गया है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह जानकारी दी कि 1 नवंबर से दिल्ली में सभी स्कूलों को खोला जाएगा.

दिशा-निर्देशों का करना होगा पालन

राजधानी में अब सभी स्कूलों को खोलने का फैसला लिया गया है, यह जानकारी उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्लीवासियों से साझा की. पहले सिर्फ नौवीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए ही स्कूल खोले गए थे, लेकिन अब सभी के लिए स्कूलों को खोलने का फैसला लिया गया है. हालांकि, छात्रों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा. इसके लिए स्कूलों को दिशा निर्देश के पालन के सख्त निर्देश भी दिए गए हैं. इसके तहत हर क्लास में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए अलग-अलग समय का फॉर्मूला लागू किया गया है. मॉर्निंग और इवनिंग शिफ्ट के स्कूलों में दोनों शिफ्टों के बीच कम से कम एक घंटे का गैप जरूरी है.

अभिभावकों की मंज़ूरी से ही छात्र आ सकेंगे स्कूल

बच्चों को अपना खाना, किताबें और अन्य स्टेशनरी का सामान एक-दूसरे से साझा नहीं करने की सलाह दी गई है. लंच ब्रेक को किसी ओपन एरिया में इस अलग-अलग समय पर रखने की सलाह दी गई है ताकि एक समय में ज़्यादा लोगों की भीड़ इकट्ठी न हो. हालांकि, बच्चों को स्कूल आने के लिए किसी भी रूप से बाध्य नहीं किया जाएगा, पहले की तरह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो रूपों में कक्षाएं चलेंगी. अभिभावकों की अनुमति के साथ ही छात्र स्कूल आ पांएगे

छठ के सार्वजनिक आयोजन की भी मिली मंज़ूरी

बीते दिनों डीडीएमए की बैठक में छठ के सार्वजनिक आयोजन पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन अब इसे मंजूरी दे दी गई है. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर यह जाबकारी दी कि DDMA की बैठक में आस्था के पर्व छठ के सार्वजनिक आयोजन पर मंज़ूरी दे दी गई है.

यह भी पढ़ें :

Aryan Bail plea hearing : आर्यन खान मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई आज, होगी बेल या रहेंगे जेल में!

Bigg Boss 15 Update ईशान सहगल को डेट कर चुके हैं राजीव अदतिया!

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर