गुवाहाटी. नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ छात्रों के प्रदर्शन के कारण गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ विश्वविधालयों में होने वाली सभी परीक्षाओं को 16 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दिया है. हालांकि विश्वविधालयों की ओर से अभी तक परीक्षा को लेकर कोई भी नई तारीखों का एलान नहीं किया गया है.

कानून और शांति व्यवस्था को बनाये रखने के लिए गृह मंत्रालय ने उत्तर-पूर्व के राज्यों समेत असम में पांच हजार पैरामिलिट्री के जवानों की तैनाती कर दी है. नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए भारतीय आर्मी के जवानों ने असम के डिब्रूगढ़ में फ्लैग मार्च किया. छात्रों ने असम सचिवालय के बाहर बड़ी संख्या में कैब यानि नागरिक संशोधन बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. कुछ देर बाद प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया और सचिवालय के बाहर लगे बैरीकेड्स को प्रदर्शनकारियों ने तोड़ दिया.

विरोध प्रदर्शन इतना बढ़ गया कि सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस वाले के साथ प्रदर्शन कर रहे छात्रों की झड़प होने लगी. इसी बीच पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया, प्रदर्शन पर काबू पाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले और रबड़ के गोलियों का उग्र प्रदर्शनकारियों पर इस्तेमाल किया.

इस विरोध प्रदर्शन के समर्थन में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविधालय में भी विश्वविधालय के छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया. मालूम हो कि सोमवार को संसद के निचले सदन यानी लोकसभा में सात घंटे के लंबे बहस के बाद नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया. इस दौरान बिल के पक्ष में 311 तो वहीं इसके विपक्ष में मात्र 80 मत पड़े. राज्यसभा में इस बिल पर चर्चा जारी है.

Also Read ये भी पढ़ें-

 राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर नरेंद्र मोदी सरकार को दूसरी सफलता, टीएमसी का बिल में संशोधन का प्रस्ताव गिरा

तस्वीरों से जानें क्या है नागरिकता संशोधन बिल, क्यों हो रहा है विरोध, क्या हैं कानूनी अड़चने

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर