बिहार. राज्य सरकार ने बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर स्थिति साफ कर दी है। बिहार बोर्ड Bihar Board की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं तय समय पर ही होंगी। बिहार के शिक्षामंत्री विजय कुमार चौधरी के अनुसार छात्रों के भविष्य को देखते हुए बोर्ड की परीक्षाएं पहले जारी किए गए कार्यक्रम के अनुसार ही आयोजित की जाएंगी। हालांकि इस दौरान परीक्षार्थियों को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। अटकलें लगाई जा रही थीं कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते ये परीक्षाएं रद्द हो सकती हैं।

अगले माह होगी बोर्ड परीक्षा

बिहार में बोर्ड की परीक्षाएं फरवरी माह में तय तारीखों पर शुरु हो जाएंगी। 12वीं की बोर्ड परीक्षा 1 फरवरी से शुरू होकर 14 फरवरी 2022 तक चलेगी। वहीं 10वीं की बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी से 24 फरवरी 2022 तक आयोजित होगी। बता दें कि इस बार बिहार बोर्ड परीक्षा में कुल 30 लाख से अधिक छात्र शामिल होंगे। इसके साथ ही बिहार देश में ऐसा एकलौता राज्य है जहां पिछले साल भी समय से परीक्षा कराई गई थी और रिजल्ट जारी किए गए थे।

एडमिट कार्ड की अनिवार्यता खत्‍म

बिहार बोर्ड की परीक्षा के लिए 10वीं और 12वीं के छाओं को एडमिट कार्ड जारी किए जा चुके हैं। हालांकि अब नई गाइडलाइन के अनुसार परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए एडमिट कार्ड की अनिवार्यता को खत्‍म कर दिया गया है। बोर्ड ने छात्रों को एक बेहतर विकल्प दिया है जिसके अनुसार इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2022 में अगर किसी छात्र के एडमिट कार्ड में कोई गलती है या उसका फोटो साफ नहीं है। तो वह अपना आधार कार्ड,पैन कार्ड, बैंक की पासबुक या अन्य कोई भी सरकारी कार्ड दिखाकर एग्जाम में एंट्री पा सकता है। बोर्ड के मुताबिक छात्रों को परेशानी से बचाने के लिए यह फैसला लिया गया है।

यह भी पढ़ें :

UP NEET Counselling 2021: शुरु हुई यूपी नीट यूजी काउंसलिंग 2021 की प्रक्रिया, जान लें जरूरी इंस्ट्रक्शंस

Notification of Second Phase : आज जारी होगी दूसरे चरण की अधिसूचना, 55 सीटों के लिए शुरू होगा नामांकन

 

SHARE