नई दिल्ली. 7th Pay Commission Latest News: सातवां वेतन आयोग लागू होने के बाद भारतीय रेलवे के कर्मचारियों का वेतन 14 से 26 प्रतिशत तक बढ़ गया है. यानी कि रेलवे के कर्मचारियों को 7वें वेतनमान के अनुसार एक चौथाई तक वेतन वृद्धि का लाभ मिला है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शीतकालीन सत्र के दौरान संसद में जवाब दिया. गोयल ने भारत नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक, सीएजी की रिपोर्ट पर चर्चा करते हुए कहा कि रेलवे कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के पे मैट्रिक्स के हिसाब से सैलेरी देने के बाद विभाग का खर्च काफी बढ़ा. जिस वजह से रेलवे का ऑपरेटिंग अनुपात भी बढ़ा है. 

केंद्र सरकार के सातवें वेतनमान लागू करने के बाद निम्न ग्रेड के रेलवे कर्मयारियों का वेतन 14 प्रतिशत बढ़ गया. वहीं रेलवे में उच्च ग्रेड के कर्मचारियों के वेतन में 24 फीसदी तक का इजाफा हुआ. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सदन में जानकारी दी कि सातवां वेतन आयोग लागू होने के बाद रेलवे का वेतन खर्च 22,000 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. 

सीएजी की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रेलवे का ऑपरेटिंग रेश्यो साल 2015-16 में 90.49 प्रतिशत था. जो कि एक साल बाद 2016-17 में बढ़कर 96.5 हो गया था. 2017-18 में रेलवे का ऑपरेटिंग रेश्यो 98.44 प्रतिशत रहा. ऑपरेटिंग रेश्यो एक संस्थान के कमाई पर खर्च का अनुपात होता है. यानी कि रेलवे को 100 रुपये की कमाने के लिए 98.44 रुपये खर्च करने पड़ रहे हैं.

यानी कि रेलवे की कमाई दिन ब दिन कम होती जा रही है. पिछले 3-4 सालों में रेलवे का ऑपरेटिंग रेश्यो तेजी से बढ़ा है. रेल मंत्री पीयूष गोयल रेलवे में नवाचार, सुविधाएं बढ़ाने और कर्मचारियों की वेतन वृद्धि का हवाला दे रहे हैं.

Also Read ये भी पढ़ें-

7वें वेतनमान की सिफारिश लागू करवाने के लिए कॉलेज प्रोफेसरों का प्रदर्शन, वेतन वृद्धि को लेकर ये हैं मांगें

सातवें वेतनमान के तहत UPSC ने सिस्टम एनालिस्ट के पद पर निकाली बंपर वैकेंसी, मिलेगी बंपर सैलरी

2 responses to “7th Pay Commission: सातवां वेतनमान लागू होने के बाद रेलवे कर्मचारियों की सैलेरी में 26 फीसदी तक इजाफा”

  1. Kya 7th pay commission sirf railway ke liy tha, yadi nahi to sirf railway employees ke against hi kyo etnaa ye awaz.

  2. 7वें वेतन में तो बहुत सारे केन्द्रीय कर्मचारी होते है।फिर ये रेलवे पर इतनी खवर की मेहरवानी क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App