नई दिल्ली. 7th Pay Commission, 7th CPC Latest News Today: भारतीय रेलवे के हजारों कर्मचारी एक बड़े बदलाव से गुजरने के लिए तैयार हैं. रेलवे बोर्ड ने सातवें वेतन आयोग की रिपोर्ट की सिफारिश को मंजूरी दे दी, जिसमें वाणिज्यिक विभाग में तीन श्रेणियों के पदों के विलय का सुझाव दिया गया था. ये पद हैं टिकट जांच कर्मचारी (टीसी), वाणिज्यिक क्लर्क (सीसी) और पूछताछ-सह-आरक्षण क्लर्क (ईसीआरसी).

हालांकि इस बदलाव के लिए 22 फरवरी 2018 को एक अधिसूचना जारी की गई थी. लेकिन प्रारंभिक विलय का फॉर्मूला कर्मचारियों के साथ अच्छा नहीं रहा. इसलिए, रेलवे बोर्ड एक और प्रस्ताव लेकर आया है जो कर्मचारियों के हित को ज्यादा अनुकूल बनाता है. स्टाफ (टीसी), वाणिज्यिक क्लर्क (सीसी) और पूछताछ/आरक्षण क्लर्क (ईसीआरसी) पदों की जांच करने वाले वर्तमान कर्मचारी एक ही विवरण के तहत आएंगे.

विशेष रूप से, उनके वर्तमान कामों को किसी भी तरह से नहीं बदला जाएगा. हालांकि, जिन लोगों को नए सिरे से काम पर रखा जाएगा उन्हें इनमें से किसी भी कार्य – टीसी, सीसी और ईसीआरसी में नियुक्त किया जा सकता है. दिल्ली डिवीजन कर्मचारी संघ, एनआरएमयू के महासचिव अनूप शर्मा ने कहा कि मौजूदा कर्मचारी काम करना जारी रखेंगे क्योंकि वे वर्तमान में काम कर रहे हैं. उनकी पदोन्नति, वरिष्ठता और अन्य व्यवस्थाओं में कोई बदलाव नहीं होगा. हालांकि, नई पदों के तहत नई भर्तियां की जाएंगी.

बता दें टीसी, सीसी और ईसीआरसी पदों के विलय के बाद, भारतीय रेलवे इनमें से किसी भी पद पर भर्ती किए गए कर्मियों को तैनात करने में सक्षम होगा, चाहे वह टिकट चेकिंग, वाणिज्यिक क्लर्क या आरक्षण क्लर्क हो. यह पहले संभव नहीं था. इससे पहले, भारतीय रेलवे को टिकट बुकिंग और इसके अलावा वाणिज्यिक क्लर्कों को तैनात करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा था. नए कर्मचारियों को इन सभी कार्यों के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी और उन्हें तीन श्रेणियों में से किसी भी श्रेणी में तैनात किया जा सकता है.

कमर्शियल क्लर्क, टिकट चेकिंग क्लर्क और रिजर्वेशन क्लर्क के काम में कई समानताएं हैं. इसके बावजूद, कर्मचारियों द्वारा पदोन्नति, पोस्टिंग और वरिष्ठता के लिए कई मामले दायर किए गए हैं. पदों के विलय के बाद यह मुद्दा समाप्त हो जाएगा. सातवें वेतन आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि नए कैडर को कमर्शियल और टिकटिंग स्टाफ कहा जाएगा. यह भी कहा था कि कर्मचारियों को आवश्यकतानुसार उचित प्रशिक्षण देना होगा.

7th Pay Commission: सातवें वेतन आयोग के तहत इस राज्य के पेंशनरों को बड़ी सौगात, मई से मिलेगा महंगाई भत्ता

7th Pay Commission: सातवें वेतन आयोग के तहत 9 लाख सेंट्रल पैरा मिलिट्री फोर्सेस को जल्द मिलेगा RMA और RHA पर टैक्स छूट का फायदा, वित्त मंत्रालय ने दिए संकेत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App