बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया उस निर्भया का जिला है, जिसके साथ दिल्ली में जो हुआ. उसके बाद ये माना गया कि शायद ये देश की बेटियों के लिए टर्निंग प्वाइंट हो लेकिन तारीखें बदलीं. साल बदले पर हालात नहीं बदले.
 
बलिया की ग्यारहवीं की छात्रा रागिनी जिसे उसके ही गांव के नजदीक के ग्राम प्रधान के बेटे ने प्रेम प्रसंग से इनकार करने पर गला काट डाला. रागिनी की बहनें जो कैमरे पर ये कह रही हैं कि गला काट लेने वाले बेटे का बाप धमकी दे रहा है कि वो अपने बेटे को बचाने के लिए कानून-पुलिस सबको खरीद लेगा. वैसे भी मर्डर एक करो या तीन मुकदमा तो एक ही चलेगा.
 
यूपी के बलिया का एक गांव बाजहां है, इस गांव में विनोद दुबे का परिवार है, जिनकी चार बेटियां हैं. रागिनी जिसे मार दिया. नेहा और प्रीति जिसे धमकी दी जा रही है और चौथी बेटी अभी छोटी है. हत्या का आरोपी गांव के बगल के ग्राम प्रधान का बेटा आदित्य तिवारी है. जिसने कई लड़कियों के सामने बीच रोड पर ही रागिनी की गर्दन काट दी. उसके साथ उसका दोस्त राजू यादव था.
 
पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है और मामले में आदित्य के पिता को भी आरोपी बनाया है. लेकिन ख़बर है कि इस मामले में अब सियासत होने लगी है और कुछ बड़े लोग इन बेटियों के हक-हकूक के लिए खड़े होने के बदले आरोपी के साथ मामले की लीपापोती में लगे हुए हैं.
 
वैसे इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में है. ख़बर है कि लड़कियों को धमकियां कई महीने से मिल रही थी. इन लड़कियों के पापा भले पुलिस को लिखित शिकायत देने की हिम्मत नहीं जुटा पाए क्योंकि मामला दबंगों से जुड़ा था. फिर भी गांव के कुछ लोगों ने पुलिस तक बात पहुंचाई थी लेकिन पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रही.
 
उस दिन भी समय पर नहीं पहुंच पाई जब स्कूल की एक लड़की की गर्दन बीच सड़क पर काट ली गई. बलिया पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के बॉर्डर पर मौजूद है, गोरखपुर के नजदीक जो मुख्यमंत्री योगी का गृह जनपद है. जब उत्तर प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वॉयड का गठन हुआ तो कुछ दिनों तक तो लगा कि बेटियों की तरफ उठने वाली हर बुरी आंख को नीचा कर दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App