नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की कांग्रेस नेता नूरी खान पांच दिन पहले उज्जैन में एक हिंदू संत की तरफ से आयोजित शोभा यात्रा में शामिल हुईं. इस दौरान उन्होंने न सिर्फ भगवा कपड़े पहन रखे थे. बल्कि इस यात्रा के दौरान नूरी खान ने ॐ नम: शिवाय मंत्र का भी जाप किया. लेकिन नूरी खान के इस कदम से मुफ्ती-मौलाना भड़क गए हैं.
 
नूरी के भगवा धारण करने और ॐ नम: शिवाय का जाप करने को इस्लाम के खिलाफ बता रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या एक मुस्लिम महिला का भगवा पहनना हराम है और क्या नूरी खान का ॐ नम: शिवाय का जाप करना गैर इस्लामिक है ? 
 
ॐ नम: शिवाय जप यात्रा में नूरी खान ने हिस्सा क्या लिया, हंगामा मच गया. सोशल मीडिया के जरिए उन पर हमले शुरू हो गए तो नूरी ने भी धर्म के स्वयंभू ठेकेदारों को जवाब देने में देर नहीं की.
 
एक अगस्त को ॐ नम: शिवाय जप यात्रा में शिरकत करने के बाद नूरी ने फेसबुक के जरिए उनके खिलाफ फतवा जारी करने की सीधी चुनौती दी और लिखा- धर्म के ठेकेदार तय नहीं करेंगे कि अच्छा हिंदू कौन या अच्छा मुसलमान कौन ? ना इस्लाम को खतरा है ना हिंदुत्व को खतरा है. सिर्फ दिलों को बांटने वाले, नफरत फैलाने वालों से सारे मुल्क को खतरा है.
ना केसरिया तेरा है, ना हरा मेरा है 
ये जो रगों में लहू बोल रहा है 
गौर से देख, मिला के देख 
तेरा भी मुझ जैसा है, मेरा भी तुझ जैसा है…
 
ॐ नम: शिवाय जप यात्रा में शिरकत करने का जिक्र करते हुए नूरी ने आगे लिखा- भगवा रंग किसी के बाप का नहीं है, जो महज गुंडागर्दी और नफरत कर के इस रंग को बदनाम करना चाहते हैं और ना हरा रंग किसी के बाप का है, जो हिंसा की हिमायत करते हैं. आज ये रंग मैंने मोहब्बत भाईचारे और एकता के लिए पहना है, क्योंकि मेरा लहू बोल रहा है.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App