नई दिल्ली: जवाब तो देना होगा में आज जवाब फिर उसी स्कूल को देना है जो लगातार सवालों के घेरे में है लेकिन या तो उसे अपने जिम्मेदारी का एहसास नहीं या स्कूल के नामी होने का गुरूर है कि सवालों से बचता फिर रहा है स्कूल.
 
हम बात डीपीएस गाजियाबाद की कर रहे हैं जिसके सामने अभिभावकों के सवाल हैं, सीबीएसई की कमिटी के सवाल हैं लेकिन जवाब देना तो दूर, हमने आपको दिखाया था कि कैसे स्कूल सवालों से बचता फिर रहा है और आज डीपीएस गाजियाबाद के मेरठ रोड वाली ब्रांच के सामने एक औऱ सवाल खड़ा है.
 
एक दिव्यांग बच्ची के मां बाप का आरोप है कि जैसे ही स्कूल को पता चला कि बच्ची दिव्यांग है और उसके दोनों पैरों में ज़रा सी दिक्कत है तो स्कूल ने टेस्ट क्लियर करने के बावजूद भी बच्ची को एडमिशन देने से इनकार कर दिया. पहले आपको बच्ची और उसके पिता का दर्द बयां करती दो तस्वीरें दिखाते हैं औऱ फिर पूरा वाक्या बताएंगे विस्तार से.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर