नई दिल्ली. हमारी सनातन सभ्यता में नारी को नारायणी कहा गया है.  देवी दुर्गा मां काली और आदि शक्ति का दर्जा दिया गया है. लेकिन जिस तरह राधे मां ने आस्था और भक्ति के नाम पर अश्लीलता और भोंडेपन का प्रदर्शन किया है उसने सनातन धर्म के सम्मान पर ही सवालिया निशान लगा दिया है.

सवाल है कि जिस राधे मां पर दहेज उत्पीड़न से लेकर आईएसआई के लिए मुखबिरी करने तक कई संगीन आरोप लग चुके हैं उसके खिलाफ पुलिस और कानून की चुप्पी का क्या मतलब है ? जन गण मन में आज इसी सवाल पर चर्चा हुई कि क्या मुंबई पुलिस राधे मां को बचाने में जुटी है ?   

पूरी बहस सुनने के लिए वीडियो पर क्लिक करें:

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App