नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने आज अनशन के पांचवें दिन मीडिया के सामने कहा कि केजरीवाल ने ब्लैक मनी को व्हाइट किया. पार्टी के चंदे में भयंकर गोलमाल किया. केजरीवाल के करीबियों ने फर्जी कंपनियां खड़ी की और इन्हीं के जरिए पैसों का लेनदेन किया गया.
 
जवाब में कपिल मिश्रा को शिखंडी कहते हुए आम आदमी पार्टी ने आरोपों को सिरे से खारिज किया. जन गण मन में आज बहस इस बात पर कि ‘आप’ ने कपिल मिश्रा को शिखंडी क्यों कहा ? और कपिल के केजरीवाल को जेल भेजने के दावे में कितना दम है ?
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर