नई दिल्ली. दिल्ली में एक बार फिर ऑड-ईवन चल रहा है. यानी ऑड तारीख को ऑड नंबर वाली गाड़ियां चल रही हैं और ईवन तारीख को ईवन नंबर वाली गाड़ियां. पिछले दो दिनों में ऑड-ईवन की वजह से सड़कों पर गाड़ियां कम दिखीं लेकिन सरकार की असली परीक्षा कल यानी सोमवार को है.
 
कल स्कूल खुलेंगे साथ ही ऑटो-टैक्सी यूनियन का एक वर्ग हड़ताल पर भी जाने वाला है. केजरीवाल का कहना है कि बीजेपी दिल्ली में ऑड-ईवन को फेल करना चाहती है और इसके लिए वो तमाम तिकड़म कर रही है लेकिन वो बीजेपी को कामयाब नहीं होने देंगे.
 
उधर, बीजेपी का आरोप है कि केजरीवाल सरकार को प्रदूषण की चिंता उतनी नहीं है. जितना वो इसके जरिए अपना प्रचार करने की कोशिश में है. क्या सिर्फ ऑड और इवन फॉर्मूले से दिल्ली को पॉल्यूशन फ्री बनाया जा सकता है क्योंकि प्रदूषण की वजहें तो और भी कई सारी हैं. बता दें कि दिल्ली में करीब 70 फीसदी प्रदूषण गाड़ियों की वजह से है जबकि थर्मल प्लांट की हिस्सेदारी करीब 17 फीसदी है और बदरपुर थर्मल पॉवर प्लांट से होने वाले प्रदूषण के लिए सुप्रीम कोर्ट भी कड़ी फटकार लगा चुका है. 
 
इंडिया न्यूज के खास शो “जन गण मन” में आज हम यही जानने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या बीजेपी वाकई दिल्ली में ऑड-ईवन को फेल करना चाहती है…? या फिर केजरीवाल के आरोप में कहीं ना कहीं पब्लिसिटी स्टंट है…? 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App