नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर्स में से एक शेन वाटसन ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. वाटसन ने गुरुवार को अपने रिटायरमेंट की घोषणा की. वे टी 20 वर्ल्ड कप के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना छोड़ देंगे.

वाटसन ने अपने रिटायरमेंट की घोषणा ठीक उसी दिन की, जिस दिन 14 साल पहले उन्होंने पहली बार ऑस्ट्रेलिया के लिए वनडे मैच खेला था.

शेन वाटसन फिलहाल 34 साल के हैं, और पिछले 14 सालों से ऑस्ट्रेलिया के लिए खेल रहे हैं. वाटसन ने पिछले साल इंग्लैंड दौरे के वक्त ही टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया था. उन्होंने सितंबर 2015 के बाद से ऑस्ट्रेलिया के लिए कोई वनडे नहीं खेला है.

शेन वाटसन ने कहा कि वह एक खूबसूरत सुबह जब से उठे तो अचानक उन्हें ख्याल आया कि बस यही सही समय है. वाटसन ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ खूब अच्छा वक्त गुजारा. लेकिन अब थोड़ा अलग लगता है क्योंकि जिनके साथ आपने करियर शुरू किया था, उनमें से कोई साथी नहीं बचा है.

साथ ही वाटसन का कहना है कि कई चोटों की वजह से अब उन्हें अपना फ्यूचर भी कुछ खास नजर नहीं आ रहा है. शेन वाटसन ICC की T20 इंटरनेशनल रैंकिंग में दो साल तक नंबर 1 ऑलराउंडर रहे हैं.

साल 2011 में वे ODI कैटेगरी के लिए भी नंबर 1 ऑलराउंडर रह चुके हैं, वहीं बैट्समैन की रैंकिंग में वे उस साल नंबर 3 पर थे. शेन वाटसन के नाम ऑस्ट्रेलिया की ओर से वनडे की एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है.

उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में साल 2011 में नॉट आउट 185 रन बनाए थे. शेन वाटसन उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं जिन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट को मिलाकर 10000 रन बनाए हैं और 250 विकेट लिए हैं. शेन वाटसन क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी कर चुके हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर