Omicron Increase Immunity

 

नई दिल्ली, Omicron Increase Immunity कोरोना और ओमिक्रॉन से बचने के लिए सबसे ज़रूरी है आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का अच्छा होना. इम्युनिटी को बढ़ने वाले सप्प्लिमेंट्स यहां तक की फल और सब्ज़ियां आदि भी महंगी पड़ती हैं. तो फ्री में कैसे अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाया जाए?

हमारे शरीर की इम्युनिटी हमें बस कोविड ही नही बल्कि सभी बीमारियों से लड़ने में हमारे बचाव तंत्र की मदद करती है. जहां, कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टैन्सिंग, सैनिटाइज़शन और मास्क जैसे प्रोटोकॉल का पालन आवश्यक है वहीं, इस समय कोरोना प्रोटोकॉल के साथ अच्छे खान-पान और शारीरिक कसरत आदि पर भी ज़ोर दिया जा रहा है. हैल्थ एक्सपर्ट्स भी ऐसी ही सलाह देते हैं. ये वो क्रियाकलाप है जिससे हमारी इम्युनिटी सिस्टम को मज़बूती मिलती है. चाहें बात सप्लीमेंट्स की हो या महंगी योग क्लासेज की सभी जगह आपको कुछ न कुछ खर्च ज़रूर करना पड़ता है. एक प्राकृतिक तरीका ऐसा भी है जहां, आपको अपनी इम्युनिटी बनाने के लिए कुछ खर्च करने कि ज़रुरत नहीं पड़ेगी.

सूर्य की रौशनी

अपनी इम्युनिटी बढ़ाने का सबसे प्राकृतिक तरीका है सूरज की रौशनी लेना. आपको यह तो पता ही होगा की सूरज हमारी विटामिन डी की खपत को पूरा करने का सबसे असरदार और प्रत्यक्ष स्त्रोत है जिसकी पहुँच सभी तक है. दरअसल, सूरज की रौशनी हमारे शरीर में जमे कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) से विटामिन डी का निर्माण करता है. यह प्रक्रिया दोतरफ़ा काम करती है. यह हमारे बॉडी फैट को कम तो करता ही है इससे हमारे शरीर की विटामिन डी की खपत को भी पूरा करता है.

70-90% लोगों में होती है विटामिन डी की कमी

एक शोध की बात करें तो भारत में 70 से 90% लोगों में विटामिन डी की कमी पायी जाती है. विटामिन डी कि कमी से इम्युनिटी तो कमज़ोर होती ही है, साथ ही ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis), कैंसर (Cancer), डिप्रेशन (Depression), मसल्स कमजोरी (Muscle weakness) जैसीं दिक्कतों का भी सामना करना पड़ जाता है.

इस समय लें सूरज की रौशनी

शरीर में अच्छा ब्लड लेवल बनाए रखने और विटामिन की खपत पूरी करने के लिए हफ्ते में कम से कम 30 मिनट के लिए सूर्य की रौशनी लेना फायदेमंद होता है. जानकारों की मानें तो सूरज की रौशनी लेने का सबसे अच्छा समय दोपहर का होता है. सर्दियों की दोपहर में धुप की गर्माहट एकदम सटीक होती है. यह आपकी त्वचा को जलती नहीं है.

इन बातों का रखें ध्यान

विटामिन डी की कितनी मात्रा कि आपके शरीर को आवश्यकता होती है ये आपके भूमध्य रेखा से दूरी, त्वचा के प्रकार और संस्क्रीम आदि से प्रभावित हो सकता है. इस बारे में आप हैल्थ एक्सपर्ट्स की सलाह ज़रूर लें.

 

यह भी पढ़ें:

Corona Cases in India today : देश में कोरोना का कोहराम, एक दिन में मिले 1.80 लाख केस, 146 की मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर