Lockdown in Mumbai:

महाराष्ट्र, Lockdown in Mumbai: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई कोरोना की मार झेल रही है, ऐसे में बीती रात मज़दूर अपने गाँव-घरों की और पलायन करने लगे. वहीं, क्रूर प्रशासन और पुलिस उनपर लाठी बजाती हुई नज़र आई. आलम यह था कि पुलिस ने उनपर डंडे बरसाए, लेकिन यूपी-बिहार के मजदूर रातभर स्टेशन पर डटे रहे और बोले कि लॉकडाउन लगा तो यहां भूखे मर जाएंगे.

मज़दूर बोले लॉकडाउन लगने के बाद भूखे मर जाएंगे

देश एक बार फिर कोरोना की मार झेल रहा है. ऐसे में अगर कोई राज्य कोरोना की सबसे जयादा मार झेल रहा है तो वो महाराष्ट्र है. बीते दिन की ही बात करें इस अकेले राज्य में कोरोना के 36000, से ज़्यादा मामले दर्ज़ किए गए थे. माया नगरी मुंबई एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रही है. ऐसे में सबसे अधिक चिंता में अगर कोई है तो वे हैं श्रमिक और मज़दूर, यही कारण है कि मुंबई आए यूपी-बिहार के मजदूर अब मुंबई से वापस अपने घर पलायन करने पर मज़बूर है.

बीते लॉकडाउन में जिस तरह से मज़दूर की हालत थी वे काम धंधों के ठप हो जाने के बाद बेबस और लाचार अपने घर जाने को मज़बूर थे. कोरोना महामारी की इस तीसरी लहर में एक बार फिर ऐसा ही देखने को मिल रहा है. मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर यूपी-बिहार के मज़दूर जमे बैठे हैं. दरअसल, इसी स्टेशन से इन राज्यों के लिए ट्रेनें रवाना होती है. और मुंबई के अधिकतर प्रवासी भी देश के इन्हीं राज्यों से काम धंधे की तलाश में यहाँ आते हैं.

पुलिस ने किया लाठीचार्ज

लॉकडाउन के डर से उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी अपने घर को पलायन करने के लिए मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर डेरा जमाए बैठे हैं. ऐसे में पुललस भीड़ को छंटने के लिए मज़दूरों पर लाठी चार्ज करती हुई नज़र आई. मज़दूरों को जहाँ घर जाने के लिए ट्रेन का टिकट नहीं मिला वहीं, फ़िज़ूल पुलिस के डंडे भी खाने पड़े. स्वाभाविक सी बात है लॉकडाउन के डर मज़दूर सहमे हुए हुए हैं और वे जल्द से जल्द अपने घर की ओर प्रस्थान करना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें:

Public Meeting : चुनावी रैलियों पर रोक लगा सकता है चुनाव आयोग, जानें कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख ने क्या कहा?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर