नई दिल्ली. C. Vaccine जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन ‘जाइकोव-डी’ की कीमत तय हो गई है. एक डोज़ की कीमत 265 रूपये होगी। हाल ही में केंद्र सरकार ने ‘जाइकोव-डी’ की 1 करोड़ खुराख टिके को खरीदने के आदेश दिए है. इस महीने से यह टीका राष्ट्रीय कोरोना वायरस रोधी टीकाकरण अभियान में शामिल हो जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में विकसित दुनिया के पहले डीएनए-आधारित कोविड-19 टीके को टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल करने के लिए शुरुआती कदमों को हरी झंडी दिखा दी है. शुरुआत में इसे वयस्कों को लगाने में प्राथमिकता दी जाएगी.

जेट एप्लिकेटर से लगेगी वैक्सीन 

जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन ‘जाइकोव-डी’ को जेट एप्लिकेटर से लगाया जाएगा। जेट एप्लिकेटर की कीमत 93 रूपये प्रति डोज़ है, यानि ‘जाइकोव-डी’ डोज़ की कीमत 358 रुपये हो जाएगी. बच्चों को यह वैक्सीन सुई से नहीं लगाई जाएगी, बल्कि उन्हें यह वैक्सीन जेट एप्लिकेटर के मदद से लगाई जाएगी। इससे बच्चों को किसी भी प्रकार का दर्द नहीं होगा। जेट एप्लिकेटर सीधे शरीर के अंदर मौजूद कोशिकाओं में वैक्सीन की खुराक को इंजेक्ट करता है. यह उपकरण एक स्टेपलर के आकर का होता है. इससे वैक्सीन की 0.1 मिलीलीटर खुराख दी जाती है. इस डिवाइस के तीन हिस्से होते हैं- इंजेक्टर, सिरिंज और फिलिंग एडैप्टर। इसके एक इंजेक्टर से करीब 20 हजार डोज़ दी जा सकती है.

28 दिनों के अंतराल पर दी जाएगी तीन खुराकें

‘जाइकोव-डी’ की 3 डोज़ 28 दिन के अंतराल में लोगो को दिया जाएगा।आपको बता दें कि देश में विकसित यह दुनिया का पहला ऐसा टीका है जो डीएनए-आधारित एवं सुई-रहित है. जाइकोव-डी को 20 अगस्त को दवा नियामक से आपातकालीन इस्तेमाल के लिये मंजूरी मिली थी.

यह भी पढ़ें:

UKPSC 2021: प्रीलिम्स एग्जाम का एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें चेक

Mayawati’s allegation, SP disrespected saints and gurus of Dalit and backward: मायावती का आरोप, सपा ने दलित व पिछड़ों के संतों व गुरुओं का किया तिरस्कार

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर