नई दिल्ली.  Air pollution  दिल्ली में दिवाली के बाद हवा ज़हरीली हो गई है. कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स सुबह 900 के पार पहुंच गया था. बढ़ते प्रदुषण के स्तर से दिल्ली में लोगो को बाहर निकले में बहुत मुश्किल हो रही है. बढ़ते प्रदुषण पर एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि कुछ डेटा के मुताबिक कोरोना वायरस प्रदूषण में ज्यादा समय तक रहता है.

बढ़ते प्रदुषण से आम लोगो को दिक्कत
एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा जिन जगहों पर प्रदुषण का स्तर ज़्यादा होता है वहां कोविड की स्थिति गंभीर हो जाती है और ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती होने लगते हैं. दिल्ली में हर साल दिवाली के बाद दिल्ली की हवा ज़हरीली होने लगती है. इस बार बड़े हुए AQI का कारण अधिक मात्रा में इस्तेमाल हुए पटाखे है. लोगो ने दिवाली पर जमकर पटाखे जलाए है, जिसके चलते हालत बत्तर हो गए है. बढ़ते प्रदुषण के चलते लोगों को गले में जलन और आंखों में पानी आने की दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है. अधिकारियों ने अंदेशा जाहिर किया कि पराली जलाए जाने से उठने वाले धुएं के कारण हालात और बिगड़ सकते हैं.

यह भी पढ़े:

Rohtak: केदारनाथ से लाइव पीएम को देखने गये पूर्व राज्यमंत्री समेत बीजेपी के बड़े नेताओं को रोहतक में किसानों ने बनाया बंधक

Dangerous Earthquake in Haryana Magnitude of 3.3 हरियाणा में भूकंप के झटके, लोग घरों से बाहर निकले

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर