Gangasagar Mela:

पश्चिम बंगाल, Gangasagar Mela:  ओमिक्रॉन के बढ़ते कहर के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गंगासागर मेले के आयोजन पर रोक लगाने से साफ़ इनकार कर दिया है. ममता ने उल्टा विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि जब बढ़ते कोरोना संक्रमण के दौर में कुंभ मेले का आयोजन किया जा सकता है तो फिर गंगासागर मेले का क्यों नहीं.

ममता ने केंद्र पर उठाए सवाल

गंगासागर मेले पर रोक लगाने की मांग को लेकर ममता ने केंद्र सरकार से सवाल किया है. ममता ने कहा कि जब केंद्र सरकार कुंभ मेले का आयोजन करती है तब उनसे कोई सवाल नहीं करता लेकिन अब लोग गंगासागर मेले पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं. गंगासागर जनता का है, ये श्राद्धालुओं की आस्था का मेला है इसपर रोक नहीं लगाई जा सकती.

हम यूपी, बिहार से आने वालों को क्या रोक सकते हैं?- ममता

पश्चिम बंगाल में मकर संक्रांति के मौके पर गंगासागर मेले का आयोजन किया जा रहा है. ऐसे में, राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों ने ममता से इस मेले पर रोक लगाने की अपील की. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मेले पर रोक लगाने से साफ़ इनकार करते हुए 29 और 30 दिसंबर को गंगासागर मेले की तैयारियों का जायज़ा लिया. इस दौरान पत्रकारों ने जब ममता से बढ़ते कोरोना संक्रमण के दौर में इस मेले के आयोजन पर सवाल किया तो ममता भड़क उठी. ममता ने कहा कि यूपी बिहार से लोग इस मेले के लिए आते हैं. ऐसे में, उन्हें कैसे रोका जा सकता है. अगर वो इस मेले में आ रहे हैं तो वो खुद वायरस से अपनी सुरक्षा का ध्यान रखेंगे.

नए साल के जश्न पर क्या बोलीं ममता

बता दें कि कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए देश के अधिकतम राज्यों ने नए साल के जश्न पर रोक लगा दी है लेकिन, पश्चिम बंगाल में अब तक कोई पाबंदियां नहीं लगाई गई हैं. इसपर सवाल पूछे जाने पर ममता बनर्जी के कहा कि “कोविड कोई दो-चार का नहीं है. आप नए साल में नकारात्मकता मत फैलाइए.”

यह भी पढ़ें:

Kalicharan Arrest : महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कालीचरण को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Naseeruddin Shah Controversial Statement मुगलों और मुस्लिमों पर किए अपने बयान के चलते ट्रोल हुए

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर