लखनऊ. डेंगू के ख़िलाफ़ जंग लड़ने के लिए भारत को बड़ी सफलता हाथ लगी है. डेंगू के इलाज के लिए दवा की रिसर्च कर रहे वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता हाथ लगी है. लखनऊ के केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान सीएसआईआर-सीडीआरआई के वैज्ञानिकों ने दो ड्रग खोज निकाले हैं.

ह्यूमन ट्रायल के बाद बाज़ार में आएगी मेडिसिन

देश के लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित करने वाला डेंगू अब ज्यादा दिनों तक अपना कोहराम नहीं दिखा पाएगा. दरअसल, भारतीय वैज्ञानिकों ने गहन शोध के बाद डेंगू के खिलाफ दो ड्रग्स की खोज कर ली है. बता दें की रिसर्च के दौरान इसके प्रथम चरण में ट्रायल चूहों पर किया गया. जिसमें ट्रायल सफल पाया गया. जिसके बाद जल्द ही मानवों पर भी इसका ट्रायल होने जा रहा है.

केंद्रीय औषधि एवं अनुसंधान संस्थान (CSIR-CDRI) के वैज्ञानिकों ने बताया कि दो ड्रग डेंगू के इलाज में कारगर पाए गए हैं. सौ चूहों पर इस ड्रग का ट्रायल किया गया. इससे डेंगू मरीजों के सटीक इलाज की नई उम्मीद जाग चुकी है. बता दें कि अभी तक पूरे विश्व में डेंगू की कोई दवा मौजूद नहीं है, केवल लक्षणों के आधार पर ही इलाज किया जाता है. ऐसे में भारतीय वैज्ञानिकों की इस खोज को बेहद सराहनीय बताया जा रहा है.

दवाएं डेंगू मरीज़ पर पूरी तरह होगी कारगर: CDRI निदेशक प्रोफ़ेसर तपस कुंडू

वैज्ञानिकों की खोज पर CDRI निदेशक प्रोफ़ेसर तपस कुंडू का कहना है कि यह दवाएं डेंगू मरीजों पर भी पूरी तरह कारगर होगी. ह्यूमन ट्रायल के बाद दवा को पेटेंट करा कर शीघ्र ही बाजार में उतारा जाएगा, उन्होंने बताया कि मनुष्यों पर ट्रायल की प्रक्रिया बहुत तेजी से चल रही है क्योंकि इस समय कोरोना के कहर के साथ देश के विभिन्न राज्यों और शहरों में डेंगू का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है इसके अलावा पेटेंट प्रक्रिया पूरी नहीं होने तक अभी दोनों ड्रग के नामों का खुलासा भी नहीं किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें :

Malaika Arora Sizzling Photoshoot : मलाइका अरोड़ा ने करवाया अपना ग्लैमरस फोटोशूट, तस्वीरें हुई सोशल मीडिया पर वायरल

Assam पीएम से पिता की हत्या का न्याय मांगता मासूम

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर