नई दिल्ली. आजकल की इस भागदौड़ से भरी जिंदगी में न तो कोई मानसिक रुप से स्वस्थ्य है और न ही कोई शारीरिक रुप से स्वस्थ्य है. किसी के पास अपने शरीर को सेहतमंद रखने के लिए वक्त ही नही है. ऐसे में ज्यादातर लोग शरीर के किसी न किसी दर्द से परेशान हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके शरीर में होने वाले इन दर्द का आपकी कुंडली से संबंध है. जी हां शारीरिक दर्द का आपकी कुंडली और ग्रहों से सीधा संबंध होता है. आज शो इसी विषयों पर बात करेंगे…

इस धरती पर एक भी चीज ऐसी नहीं हैं जिनका ग्रहों से संबंध न हो और इस धरती पर जो कुछ होता है वो ग्रहों के अनुसार ही होता है. धरती के ऊपर जिस तरह के ग्रह की प्रधानता हो वहां पर उसका सबसे ज्यादा असर होता है. जैसे आप अगर राजस्थान में चले जाएं तो आपको सब लोग बहुक पतले और लंबे मिलेंगे, क्योंकि वो मंगल की धरती है. मंगल की धरती पर इंसान का कद लंबा होने के साथ-साथ पतला और ताकतवर भी होगा.

वहीं अगर आप पहाड़ों के ऊपर चले जाएं तो आप देखेंगे की वहां सबकी आंखें छोटी-छोटी होती हैं. जिसका कारण होता है पहाड़ों पर जमने वाली बर्फ और उससे निकलने वाली ठंडी बर्फिली हवाओं के साथ शनि प्रधान है. जहां शनि प्रधान होते हैं वहां रहने वाले लोगों की आंखें छोटी-छोटी होती हैं.

क्या आप जानते हैं कि आपका अपना मकान बनेगा या नहीं, किसे अपना घर बनाने में परेशानी होगी, शुभ लाभ वाले घर की नींव कैसे रखें, कुंडली के अनुसार कैसा होना चाहिए घर का वास्तु, मकान सुख का कुंडली के ग्रहों से संबंध क्या हैं. इनके अलावा शारीरिक दर्द का कुंडली से संबंध, घुटनों के दर्द के लक्षण पहचानिए, महिलाओं को दर्द से निजात दिलाने वाले उपाय, ग्रहों से जुड़े शारीरिक दर्द का कनेक्शन और घुटने के असहनीय दर्द से छुटकारा पाने के अचूक उपाय बता रहे हैं एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम गुरु मंत्र में.

गुरु मंत्र: जन्मकुंडली के इन दोषों की वजह से लगती है नशे की लत

गुरु मंत्र: कुंडली में चंद्रमा की ये चाल आपको दिलाएगी अपना मकान

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App