नई दिल्ली. शनि का नाम सुनते ही अच्छे-अच्छों के पसीने छूट जाते हैं. शनि को न्यायधीश की उपाधि दी गई है. कहा जाता है कि शनि देव इंसान के अच्छे बुरे कर्मों का फल देते हैं. शनि देव आपको सुख देंगे या दुख, शनि देव आपको तरक्की दिलाएंगे या फिर बर्बाद करेंगे आज शो में इन्हीं विषयों में चर्चा की जाएगी. शनि का जो सबसे आसान और अच्छा घर है वो है कुंडली का दसवां घर. वहीं 11वां घर अगर शनि हो तो इंसान को बैठे बिठाए सुख मिलते हैं, लेकिन अगर कर्म करते हुए अपनी जिंदगी के अंदर सब कुछ पाना हो यानि हर तरह का सुख प्राप्त करना हो वो शनि देव के लिए दसवां घर है.

कुंडली में दसवां घर अगर अच्छा हो तो बहुत अच्छा होता है, लेकिन ये खराब हो तो सब कुछ खराब होता है. शनि के प्रकोप के कारण इंसान को गुस्सा आता है. गुस्सा ज्ञान का दुश्मन होता है. ऐसे में शनि से परेशान लोग ज्यादा देर तक किसी एक काम पर टिके नहीं रह पाते, ये लोग चिड़चिड़े हो जाते हैं. ऐसे लोगों का सेल्फ कॉन्फीडेंस कम होता है या यू कहें शनि अगर खराब हो तो वो इंसान को हर तरह से अंधा बना देता है.

इनके अलावा शनि के अच्छे और बुरे प्रभाव की जानकारी, शनि की परेशानियों के सरल और रामबाण उपाय, शनि के प्रभाव से होने वाली बीमारियों के अचूक उपाय, शनि को प्रसन्न करने वाले अचूक उपाय और कुंडली में शनि से जुड़ी आपकी हर समस्या का समाधान इंडिया न्यूज के इस खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में देंगे एस्ट्रो साइंटिस्ट जी डी वशिष्ठ जी.

गुरु मंत्र: बच्चों की बीमारियों को दूर करने वाले अचूक उपाय

गुरु मंत्र: कुंडली में राहु के बुरे प्रभाव से बचने के अचूक उपाय