नई दिल्ली. राहु के विषय में कई कथाएं शास्त्रों और पुराणों में मिलती हैं. राहु की जानकारी ब्रह्म पुराण, विष्णु पुराण, मत्यपुराण, श्रगवेद और महाभारत में मिलती है. राहु को ग्रहों में क्रूर स्वाभव बुद्धि को भ्रमित करने देने वाले ग्रह के नाम से भी जाना जाता है. राजनीति और कूटनीति संबंधि बातों का कारक भी राहु को ही माना जाता है. कहा जाता है कि अगर राहु किसी के पीछे पड़ा हो यानि आपकी कुंडली मे खराब घर में बैठा हो तो उस इंसान के बने बनाए काम बिगड़ जाते है. इसके अलावा घर की सुख शांति छिन जाती हैं. ऐसी स्थिति में कुडंली में राहु का ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

अगर आपकी कुडंली में राहु खराब अवस्था में या फिर कहें खराब घर में बैठा है तो राहु के खराब चाल और उसके प्रकोप से बचने के लिए उपाय जरुर करना चाहिए. इसी तरह बिना राहु के कुछ भी सम्भव नहीं है. राहु कुंडली के पहले घर में बैठ जाए तो इंसान को अवसर बनाता है. जी हां कुंडली में राहु अच्छा होता है तो आपको जीवन अपार सफलता मिलती है. अगर दूसरे घर का राहु खराब हो तो उस स्थिती में इंसान को आर्थिक रुप से काफी तंगी आ जाती है. वहीं अगर आपकी कुंडली में राहु तीसरे घर मेंअच्छा होता है तो वह इंसान दुसरों की काफी मदद करता है. लेकिन जब तीसरे घर का राहु खराब हो तो उस इंसान के सारे काम बिगड़ जाते हैं.

राहु ग्रह का कुंडली पर प्रभाव पर बात की जाएगी. राहु की कौन सी चाल बदलेगी आपकी जिंदगी ? राजनीति और कूटनीति से राहु का संबंध ? राहु की महादशा शांत करने वाले उपाय ? इससे जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में दे रहे हैं गुरु विशिष्ठ जी…

गुरु मंत्र: कुंडली में राहु की कौन सी चाल देती है परेशानी , जानें कैसे पा सकते हैं छुटकारा

गुरु मंत्र: कुंडली के अनुसार देवी-देवाताओं की पूजा-पाठ से मिलेगी सुख-समृद्धि, जरूर करें ये उपाय

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App