नई दिल्ली. एक मनुष्य अपने जीवन में तीन चीजों के लिए मेहनत करता है, जो कि बहुत जरूरी है और वो चीजें हैं- रोटी, कपड़ा और मकान. रोटी और कपड़ा तो वो किसी तरह से बना ही लेता है, लेकिन मकान बनाने में पूरा जीवन कट जाता है. इतना ही नही किसी-किसी के भाग्य में तो मकान ही नहीं लिखा होता है. कौन नहीं चाहता कि उसके परिवार-बच्चों और उसके सिर पर छत हो यानि उसके पास भी अपना एक मकान हो. इसके लिए मनुष्य पूरे जीवन मेहनत करता है, इसके बावजूद अपने मकान नहीं बना पाता है. क्या आप जानते हैं कि आपकी कुंडली में मकान का सुख है.

अगर आपकी जन्म कुंडली के अंदर चंद्रमा किसी भी घर के अंदर अकेला बैठा हुआ है तो इसका मतलब है कि आपको जीवन में मकान का सुख जरूर मिलेगा. चंद्रमा का एक घर यानि जन्मकुंडली का दसवां घर थोड़ा संदेह पैदा करता है. अगर उस घर में यदि चंद्रमा बैठा हुआ हो तो कई बार प्रोपर्टी होती है और कई बार नहीं भी होती. लेकिन इसके अलावा कहीं पर भी चंद्रमा अकेला बैठा हुआ हो मकान के सुख जरूर मिलते हैं. दूसरे योग के अनुमार अगर जन्मकुंडली के अंदर चंद्रमा के साथ बृहस्पति, सूर्य, मंगल, बुध इनमें से कोई भी ग्रह बैठे हुए हों तो मकान अपना जरूर बनना ही बनना है.

आज पता चलेगा कि आपका अपना मकान बनेगा या नहीं, शुभ लाभ वाले घर की नींव कैसे रखें, कुंडली के अनुसार कैसा होना चाहिए घर का वास्तु, घर बनाने में आ रही रुकावटों के अचूक उपाय इनके अलावा क्या आपकी किस्मत में अपने घर का सुख है, किसे अपना घर बनाने में परेशानी होगी, मकान सुख का कुंडली के ग्रहों से संबंध इनसे जुड़े सभी सवालों का जवाब दे रहे हैं एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ.

गुरु मंत्र: कुंडली में ग्रहों की इन चाल की वजह से आती है पति-पत्नी के बीच दूरियां, जरूर करें ये उपाय

Guru Mantra: कुंडली में शनि की परेशानियों से छुटकारा पाने के सरल और रामबाण उपाय

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App