नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के कार्यक्रम गुरु मंत्र में गुरुदेव जीडी वशिष्ठ ने कुण्डली में शनि और शनि के शाप को लेकर चर्चा की. गुरुदेव ने बताया कि जन्म कुंण्डली में अगर शनि बैठ जाए तो ये जिन्दगी के हर सुख को छीनने का काम करता है.  सुखों के मामले में भी कुण्डली में शनि से बड़ा कोई नहीं. लेकिन अगर शनि बिगड़ गया तो वो इंसान की सुख की अनुभूति को खत्म कर देता और इंसान दिखावे वाली जिंदगी में सुख ढूंढने लगता है. खुद की ओर लोगों का ध्यान खींचने के लिए बेमतलब टेंशन देने वाली बात करने लगता है. वो छोटी छोटी बात पर रिएक्ट करने लगता है. यानि इंसान की कुण्डली में शनि देव खराब हैं तो वह अपने परिवार के माहौल को भी तनावपूर्ण कर देता है.

शनि इंसान की मानसिकता को इस तरह उलझा देते हैं कि वह टेंशन में कोई काम ढंग से नहीं कर पाता और इंसान की सामाजिक प्रतिष्ठा भी गिरती है. दूसरों की नजर में नाकाबिल बन जाता है. ऐसे में शनि के इस प्रभाव से बचने के लिए इंसान को पॉजिटिव रहना चाहिए. छोटी छोटी चीजों में खुस रहें और दूसरों को खुशी दें आप कामयाब होंगे. शनि गृह पुनर्जन्म के पापों का फल देते हैं. दूसरों का तुच्छ समझना छोड़ दें वरना सारे सुख आपके जीवन से चले जाते हैं.

गुरु मंत्र: भूल जाते हैं छोटी- छोटी चीजें तो इस तरह करें याद्दाश्त में सुधार

गुरु मंत्र: जानिए क्यों बहुत ज्यादा पूजा-पाठ भी करना होता है अशुभ और इसके लक्षण