नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में आज गुरू ग्रह पर बात की जाएगी. सभी ग्रहों में गुरु ग्रह सबसे अहम ग्रह माना जाता है. जीवन में सफलता के लिए गुरू ग्रह का बहुत महत्व होता है. कुंडली में गुरू मजबूत होता है तो जीवन में सफलता मिलती है. वहीं गुरू कमजोर होता है तो किसी भी काम में यश नही मिलता है. कुंडली में गुरू की कौन सी चाल देती है परेशानियां ? गुरू ग्रह का बच्चों की पढ़ाई से क्या संबंध है, गुरू की महादशा को कैसे करें शांत. इन सभी विषयो पर चर्चा होगी.

गुरू ग्रह स्वंय खराब नही होते है वह दुसरे ग्रह को खराब करते है. वह जिस घर में बैठते है उस घर में बैठे ग्रह को खराब कर देते है.
अगर लगन राशि में बृहस्पति हो और वह इंसान लोगों को खूब ज्ञान देता हो. इंसान पढ़ता जाए तो इंसान की जिंदगी स्वर्ग होता है. अगर व्यक्ति पढ़ाई नहीं करता है वह समझदार होने के बाद अपने परिवार का लालन पालन करने में असमर्थ होता है. अगर पहले घर में बृहस्पति है तो कुछ भी पढ़कर के लोगों को ज्ञान बाटना जरूरी होता है.

अगर 2 घर में बृहस्पति होता है तो घर में आंधी की तरह पैसा आता है और तुफान की तरह पैसा जाता है. ऐसा इंसान धन का संचय नही कर पाता है. घर के आसपास पीपल का पेड़ हो तो इंसान की जिंदगी खराब हो जाती है.

गुरु मंत्र: जानिए कुंडली में किस योग से होती है दुर्घटना

गुरु मंत्र: जानिए कुंडली में किस दोष के कारण इलाज कराने के बाद भी नहीं भागती है बीमारी

गुरु मंत्र : मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए करें शुक्र को मजबूत, नहीं होगी धन की कमी