नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के गुरु मंत्र में बुढ़ापे के विषय पर चर्चा की जाएगी. दरअसल बुढ़ापा हर किसी का आना है. लेकिन बुढ़ापे का संबंध हमारी जन्मकुंडली से भी होता है. अगर जन्म कुडंली के दूसरे और चौथे घर बुढ़ापे का घर होता है. अगर इन ग्रहों के साथ यदि पापी ग्रह मिल जाते हैं तो व्यक्ति का बुढ़ापा तकलीफ दायक होता है. मंगल और बृहस्पति ग्रह का योग दूसरे ग्रह का मेल हो तो काफी सुखमय होता है वहीं जब इन ग्रहों के साथ राहू मिल जाता है तो ये कष्टदायक हो जाता है.

गुरु मंत्र में बुढ़ापे से संबधित कई विषयों पर बात की जाएगी. जन्मकुंडली के चौथे घर में अगर चंद्रमा बैठे हुए हैं और उसके साथ कोई भी अन्य ग्रह बैठे जाए तो ऐसे में उसके साथ पापी ग्रह (राहू,केतु) मिल जाये तो व्यक्ति का बुढ़ापे में कोई भी साथ नहीं देता. इस स्थिति में व्यक्ति जीवन भर कमाता है लेकिन बुढ़ापे में उसकी कमाई छिन जाती है और वो परेशान रहता है. गुरु मंत्र शो में इसी तरह के कई विषयों के बारे में गुरु मंत्र में बताया जाएगा. जैसे बुढ़ापे में आपको क्या दिक्कत उठानी पड़ेगी, किसे बुढ़ापे में परिवार और रिश्तेदारों का साथ नहीं मिलेगा, किसकी कुंडली में हैं दुख के योग, पिछले कर्मों का बुढ़ापे की दिक्कतों से क्या संबंध है, बुढ़ापे में होने वाली परेशानियों को दूर करने के अचूक उपाय आदि. अगर आप भी इन विषयों से संबधित सवाल पूछना चाहते हैं तो आपको जवाब दे रहे हैं इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में गुरु विशिष्ठ जी.

गुरु मंत्र: कुंडली में शुक्र की चाल ऐसे बना देगी आपको मालामाल

गुरु मंत्र: कुंडली के कौन से योग से बनेगा अटूट रिश्ता, लव मैरिज के लिए क्या कहती है आपकी कुंडली

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App