नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में आज दिमाग और याद्दाश्त विषय पर बात की जाएगी. आज कामकाज बोझ के चलते और बिजी दिन चर्या के कारण हम अक्सर कुछ न कुछ भूल जाते हैं. कुछ लोगों के साथ तो यह भी समस्या भी होगी कि उनकी दिन प्रतिदिन याद्दाश्त कमजोर होती जा रही है. इस विषय को लेकर आज गुरु मंत्र में चर्चा की गई. जिसमें गुरु विशिष्ठजी ने बताया कि कैसे याद्दाश्त का सीधा संबंध हमारे कुडंली ग्रहों से होता है.

जन्म कुंडली में अगर बृहस्पति 11वें स्थान में बैठ जाए तो राहु खत्म होता है. राहु का अर्थ होता है दिमाग. राहु ही इंसान को चतुर और मंदबुद्धि बनाता है. अगर राहु कुंडली में 6ठें घर में बैठ जाए तो बृहस्पति खत्म होता है. बृहस्पति का अर्थ होता है समझ से. जब इन दोनों योगों में कोई बच्चा पैदा होता है वहां पर भूलने की परेशानी आती है. कुंडली में राहु और बृहस्पति इन दो घरों में बैठे हो या पापी ग्रह के साथ मिल जाए तो भूलने और याद्दाश्त जैसी परेशानी होती है.

वहीं जन्मकुंडली में शनि खराब हो जाए तो इंसान रोजाना होने वाली गतिविधियों को भूलना शुरू हो जाता है. शनि जब खराब हो जाता है तो इसका दोष इंसान को बुरी चीजों में धकेल देता है और इंसान सही चीजों की ओर ध्यान नहीं दे पाता. इसी प्रकार बुध दोष भी भूलने की परेशानी खड़ा कर देता है. पूरा शो देखने के लिए देखें वीडियो.

गुरु मंत्र: कुंडली में चंद्र मंगल की कौन सी चाल से दूर होगी शादी में आने वाली अड़चन

गुरु मंत्र : कुंडली के इन योगों की वजह से नहीं होते बच्चे, इन बातों का रखें दंपति ध्यान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App