नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास कार्यक्रम गुरु मंत्र में आज मंगल ग्रह दोष के बारे में बात होगी. गुरु मंत्र में गुरु विशिष्ठजी मंगल ग्रह से होने वाले मंगलिक योग के बारे में भी बताएंगे. दरअसल मंगल ग्रह का हर दोष मांगलिक होना तय नहीं करता. अक्सर लोगों को लगता है कि अगर उनकी कुंडली में मंगल ग्रह की चाल सही नहीं है और स्थिति ठीक नहीं है तो इसका मतलब है कि वह मांगलिक हैं जबकि ऐसा नहीं है.

जन्म कुंडली में जब भी मंगल ग्रह 7, 12, 1, 4, और 8वें घर में हो तो इसे मांगलिक दोष मानते हैं. लेकिन जब ग्रह एक घर से दूसरे घर में जाने की तैयारी करता है और इन घरों में जा सकता है तो इसे में मांगलिक दोष पूरी तरह प्रबल नहीं होता. ऐसे पूरे मांगलिक दोष वाले से किसी ऐसे इंसान की शादी करा दी जाती है तो यह विपरीत असर पड़ता है. इस तरह के दोषों को आंशिक रूप से मांगलिक दोष बोलते हैं.

आंशिक रूप से मांगलिक दोषों को आसान उपाय से दूर किया जा सकता है. लेकिन आंशिक मांगलिक दोष वाले इंसान की शादी पूरे मांगलिक दोष वाले लड़के से करवा दी जाए तो ये अशुभ प्रभाव देता है. इसीलिए मंगल ग्रह की जानकारी सही रूप से न हो तो व्यक्ति को ऐसी नकारात्मक प्रभावित देता. पूरा शो वीडियो में देखें और जानिए मंगल ग्रह व मांगलिक दोष के बारे में पूरी जानकारी.

गुरु मंत्र: परिवार को दुर्घटना से बचाने वाले अचूक उपाय

गुरु मंत्र: इन वजहों से बार-बार होते हैं एक्सीडेंट, पहचानिए दुर्घटना वाले लक्षण

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App