नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास क्रार्यक्रम गुरु मंत्र में मंगल और शनि ग्रह के महत्व और दोष के बारे में बताया गया. इन दो ग्रहों के प्रभाव से खून की कमी यानी हिमोग्लोबिन की समस्या हो जाती है. इसकी वजह से जातक डॉक्टर के चक्कर लगाकर परेशान हो जाते हैं. खून से जुड़ी परेशानी होती है तो इसके पीछे जन्म कुंडली में मौजूद दोष होते हैं इन्हें ठीक करने के लिए अचूक उपाय करने चाहिए.

जिन लोगों को एनीमिया की कमी होती है उन्हें जन्म कुंडली में 10वें घर में शनि ग्रह से जुड़े उपाय करने होते हैं. जिन लोगों की कुंडली में एनीमिया या खून की कमी होती है उन्हें खजूर का सेवन करना चाहिए. खजूर को मंगल और शनि की मिश्रित वस्तु मानी जाती है. इसमें मौजूद तत्व व्यक्ति को एनीमिया की पूर्ति करते हैं.

मंगल और शु्क्र ग्रह दोष को दूर करने वाले उपाय
इसी तरह जब खून बनना ही बंद हो जाए तो इसे एप्लास्टिक एनीमिया कहते हैं. ऐसी स्थिति में एस्ट्रोलॉजी में ये कारण दिया गया है कि मंगल खराब स्थिति हो. दूसरा मंगल का रूप का शुक्र. अगर शुक्र कमजोर हो तो हमारे शरीर में खून बनाना बंद हो जाता है. मंगल और शुक्र को ठीक करने के लिए एक्सरसाइज करने चाहिए. मंगल और शुक्र की कुंडली में सबसे उत्तर जगह है 7वां घर. मंगल और शुक्र दोष को दूर करने के लिए गेरु मिट्टी लेकर घास वाली जगह के नीचे दबाना चाहिए. इसके अलावा ऐसे लोगों को दौड़ लगानी चाहिए.

गुरु मंत्र : बुध व राहु दोष को ठीक करने वाले अचूक उपाय

गुरु मंत्र: कुंडली में देखकर जानें क्या है ब्रेन कैंसर के लक्षण

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App