नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास क्रार्यक्रम गुरु मंत्र में मंगल और शनि ग्रह के महत्व और दोष के बारे में बताया गया. खास तौर पर इन दो ग्रहों की वजह से खून की कमी पैदा होती है और इससे तरह तरह की बीमारियां पैदा होती है. बीमारियां परिवार की खुशियां समाप्त कर देती हैं और परिवार दुखी रहने लगता है. इस खास विषय पर गुरु विशिष्ठजी ने आज इस खतरनाक बीमारी के बारे में बताया कि आखिर कैसे ये बीमारी इंसान को जकड़ लेती है.

एनीमिया जिसे खून की बीमारी कहा जाता है. जब भी मंगल नीच ग्रहों के साथ बैठा होता है तब हमें अमाशय से जुड़ी दिक्कते होती है. व्यक्ति की कुंडली में जब मंगल खराब होता है तब व्यक्ति को एनीमिया की बीमारी होती है. मंगल की खराबी की वजह से एनीमिया की कमी होती है. मगंल को शरीर के खून से संबंधित माना जाता है.

जिन लोगों को ऐसी परेशानी होती है उन्हें ठंडे पदार्थों का सेवन करना चाहिए. जिन लोगों को अमाशय की परेशानी होती है उन्हें अपनी डाइट पर खास ध्यान देना होता है. लेकिन परेशानी तब आती है जब सभी डायट फॉलो करने के बाद भी इंसान को इस बीमारी से रिलीफ नहीं मिलता इसका मतलब होता है आपको कुंडली में मंगल ग्रह के उपाय करने होते हैं.

पैसों की किल्लत को दूर करेंगे मंगलवार को किए गए ये चमत्कारी टोटके, होगी धन वर्षा

गुरु मंत्र: कुंडली में देखकर जानें क्या है ब्रेन कैंसर के लक्षण

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App