नई दिल्ली. शादी के बाद हर औरत का मां बनने के सपना होता है. लेकिन कभी कभी औरत का मां बनने का सपना पूरा नहीं हो पाता. लेकिन क्या आप जानते हैं आपकी जन्मकुंडली में आपके संतान सुख का रहस्य छिपा है. जन्मकुंडली में इंसान की जिंदगी में संतान का सुख लिखा है या नहीं यह उसके मंगल ग्रह पर निर्भर करता है. अगर किसी का भी मंगल कमजोर होगा तो इंसान की शरीर में बच्चा पैदा करने की क्षमता में कमजोरी आ सकती है.

अगर कुंडली के अंदर सिर्फ चंद्रमा कमजोर है और वो किसी पापी ग्रह के साथ संबंध में लग जाए तो औरत के अंदर कमजोरी की वजह से उसे संतान का सुख मिलना मुश्किल हो सकता है और औरत के अंदर यही चंद्रमा हो तो उसके अंडे कमजोर हो जाते हैं. इसी के साथ वृहस्पति जन्मकुंडली के अंदर खराब अवस्था में हो और बच्चे के घर पर बैठ जाए तो बच्चा अबॉर्ट हो जाता है. इस स्थिति में बार-बार गर्भधारण होता है और अबॉर्ट हो जाता है.

गुरु मंत्र: जानिए मां लक्ष्मी को खुश करने के अचूक ज्योतीषिय उपाय

गुरु मंत्र: जानिए धनवान बनने के अचूक ज्योतिषीय उपाय