नई दिल्ली. हमारे जीवन में कुंडली और ग्रहों की चाल के बहुत से मायने होते. हमारे जीवन में जो कुछ भी होता है या होने वाला है वो कुंजली में इन्हीं ग्रहों की चाल के वजह से होता है. बुध ग्रह से कुंडली से खास कनेक्शन होता है, जिस इंसान की जन्मकुंडली में बुध खराबी पर आई इसकी पहचान ये होती है कि उस व्यक्ति में धैर्य की कमी हो जाती है. सेहत ठीक नहीं रहती और नसों संबंधी परेशानियां होती हैं. जिंदगी में तनाव का शिकार हो जाते हैं. 

अगर किसी की बुद्धि ही नहीं काम की और उसके अंदर दिक्कतें आ गई तो फिर वो हर जगह फंस जाता है. बुध ग्रह को बुद्धि का सूचक माना जाता है. जब मंगल और बुध का मेल हो जाए तो इंसान को काम न मिलने की वजह से डिप्रेशन का शिकार हो जाता है. बुध जब अकेला हो कुंडली में तो व्यक्ति दिमाग से चतुर होता है. इस प्रकार के लोग खूब तरक्की हासिल करते हैं. बुध जिन कुंडलियों में अच्छे होते हैं वह काफी समझदार होते हैं और लोगों की परख अच्छी तरह से जानते हैं.

कुंडली का हमारे जीवन में बहुत महत्व होता है और कुंडली में ग्रहों की चाल बहुत मायने रखती है. बुध ग्रह से कुंडली से खास कनेक्शन होता है, जो कि हमारी जिंदगी में काफी असर भी ड़ालता है. इसका हमारे जीवन पर सकारात्मक असर पड़ता है. बुध से जुड़े सभी अचूक उपाय बता रहे हैं एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ जी.

Guru Mantra: चंद्रमा कैसे तय करता है हमारी उम्र, जानिए रहस्य

गुरु मंत्र: भगवान शिव के तीसरे नेत्र का रहस्य जानिए

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर