नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास शो गुरू मंत्र में आज शादी की बात की जाएगी. शादी से ग्रहों का क्या कनेक्शन है और गुण मिलान शादी को कैसे प्रभावित करता है. आज शो में इस बारे में जानने को मिलेगा. शास्त्रों में शादियां पहले से ही तय होती है. शादी का योग्य जन्मकुंडली के आधार पर देखा जाता है. बच्चें की जन्मकुंडली पंडितो को दिखा जान सकते हैं अपने बच्चों की शादी की उम्र का योग्य. मां-बाप का अपने बच्चों की शादी कौन सी उम्र में शादी कराना सही रहेगा. आज एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ जी गुरु मंत्र शो में इन सभी विषयों पर चर्चा करेंगे.

अगर आपकी शादी का योग सही समय पर होना तय हैं तो आपकी थोड़ी सी कोशिश ही रंग ले आएगी. और अगर शादी का योग नहीं हैं तो रिश्ता जुड़ कर भी टूट सकता है. ये सारे हालात अपने आप बनते है. मां-बाप को अपने बच्चें की जन्मकुंडली दिखाकर ये जानना जरुरी हैं की उनके बच्चें की शादी की सही उम्र कौन सी है. जिस उम्र में आपके बच्चें शादी करने जा रहे हैं उस उम्र में शादी खराब भी हो सती है.

अगर आपके घर में शहनाई नहीं बज रही हैं तो इसके लिए चंद्र और मंगल जिम्मेदार है. अगर आपकी कुंडली में मंगल ग्रह खराब स्थिति में हैं तो ऐसी अवस्था पर शादी में बाधा पड़ेगी. वहीं शादीशुदा जिंदगी की सुख शांति का सबसे बड़ा आधार होता हैं चंद्रमा जो घर की सुख शांति भी बनाए रखता है. ऐसे में अगर चंद्रमंगल का इलाज न किया जाए तो आपके बच्चों की शादी में बाधा बनी रहेगी.

इसे दूर करने के लिए 44 दिन लगातार छुआरे और पानी को एक साथ लेकर उबालना हैं और उन्हें पानी को ठंडा कर उसे जल प्रवाह करना है. ऐसा करने से चंद्रमंगल चौथे घर में चले जाएंगे और घर और धन दोनों आपकी जिंदगी में घर करेंगे.

गुरु मंत्र: कुंडली में शुक्र ग्रह की कौन सी चाल से होगी मां लक्ष्मी की कृपा

गुरु मंत्र: जानिए कुंडली से लक्ष्मी दिलाने वाले शुक्र ग्रह के अचूक उपाय

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App