नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के शो गुरू मंत्र में होलिका दहन पर बात की जाएगी. होलिका दहन का सही समय क्या है ? होलिका की रात क्या करने से दूर होगी परेशानी, होलिका के अचूक उपाय धनवान बनाएंगे, होलिका पर हर मनोकामना होगी पूरी, आज एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ जी गुरु मंत्र शो में इन सभी विषयों पर चर्चा करेंगे.

पूराने समय में घर की महिलाएं गोबर के उबले बनाकर उसमे छेद कर सात उबलोंकी माला बनाते है. दिन के समय इस माला को होलिका के उपर चढ़ाते है. होलिका दहन से पहले उस माला से भाई, पति, देवर से माला को सर से लेकर पैर कर उतार कर होलिका में डाल देते और कामना करते है की सारी परेशानी दिक्कते इस माला के साथ जलकर खतम हो जाए.

होलिका दहन बुराई पर अच्छाई की जीत है. इस समय फसलों की कटाई होती है जो की परिवार के लिए खुशियों का समय होता है. होली मिलन का त्योहार है. आज के दिन मंगल गीत गाना और स्वादिष्ट पकवान बनता है.शाम के समय होलिका दहन किया जाता है. होलिका दहन में लोग आग में आहुति देकर मन्नत मांगते है. फिर अगले दिन रंग गुलाल के साथ होली खेलते है. होली के दिन रुढ़े लोगों को मनाया जाता है.

होलिका दहन के समय मीठा लेकर जरूर जाओं ताकि संदेश जाए की आप मीठा बनकर आए हो और मीठा बनकर ही रहोगें. होलिक दहन के समय गुजिया मिठाई ले जाएं क्योंकि हर त्योहार की अपनी मिठाई होती है.होली वाले दिन घर में तमाम बुराई को घर से निकालना है. जैसे घर में किसी का स्वास्थ्य खराब हो, घर में धन की कमी हो आदि ईश्वर से मन्नत मांग इन परेशानियों से मुक्ति मिलें. आपके सभी सवालों का जवाब देंगे एस्ट्रो साइंटिस्ट जीडी वशिष्ठ इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में.

गुरू मंत्र: जानिए सूर्य को जल चढ़ाने का ज्योतिषीय और वैज्ञानिक आधार

गुरु मंत्र: जानिए राहु की महादशा को शांत करने वाले उपाय

गुरु मंत्र: जानिए कुंडली में राहु की कौन सी चाल दुश्वार कर देगी आपकी जिंदगी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App