नई दिल्ली. कौन चाहता है कि उस पर कोर्ट केस हो या उसे कचहरी के चक्कर लगाने पड़ें लेकिन ये सब हमारे हाथ में नहीं होता इसलिए न चाहकर भी कभी कभी इंसान ऐसे चक्करों में फंस जाता है. ऐसे में जानना जरूरी है कि ऐसे कौन से उपाय है जिससे आप कोर्ट कचहरी से बच सकेंगे. ये बताया गुरुदेव जीडी वशिष्ठ ने-

कुंडली के वो योग जो आपको कोर्ट कचहरी में डालते हैं –

जन्म कुंडली के अंदर लगभग सभी गृह किसी न किसा रूप में कोर्ट कचहरी के चक्कर में फंसा सकते हैं लेकिन निभर्र करता है कि किस कुंडली में किस जगह पर कौन सा गृह बैठा हुआ है. अगर आपकी कुंडली में पहले से छठे घर तक शनि और केतु एक साथ बैठे हैं और राहु बाद में बैठा है तो ये आपको कोर्ट कचहरी के चक्कर में फंसा सकता है. इस योग के कारण आप लंबे समय तक कोर्ट कचहरी के चक्कर में रहना पड़ सकता है. वहीं अगर शनि और राहु साथ आ जाएं तो छोटी सी चूक होते ही आप इस सब में फंस सकते हैं. अगर शनि सूर्य या चंद्रमा के साथ आकर बैठ जाए तब भी आपको ऐसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है.

मिलेगा संतान सुख

घर पर काला कुत्ता पालने से संतान न होने जैसी दिक्कतें आएंगी. इसके अलावा अगर आपकी कुंडली में सूर्य़ 11वें स्थान पर होता है तो संतान न होने जैसी परेशानी आती है. ऐसे में अपने पुस्तैनी घर में मांस और शराब के सेवन को बंद करवाना जरूरी है. तवा, चिमटा या फिर अंगीठी किसी चलते हुए साधू को दान करें इससे संतान का योग बनेगा.

मन से दूर होगा डर

बृहस्पत, चंद्र मंगल और शनि के 12वें स्थान पर होने से खर्च होते हैं और दिल घबराने लगता है. इसके अलावा बुध और केतु के टकराव से नौकरी और बिजनेस में दिक्कत आती है. ऐसे में 4 पूजा वाले  नारियल पर सरसों का तेल और तिल लगाकर हर तीन माह के अंदर मंदिर में दें.

गुरु मंत्र: इस तरह कर सकते हैं अंधविश्वास के अभिशाप से खुद की रक्षा

गुरु मंत्र: जिंदगी से गरीबी दूर भगाने के अचूक उपाय