नई दिल्ली. पारिवारिक रिश्ते और गहरी दोस्ती में कभी-कभी खटास आ जाती है, लेकिन यही खटास कभी-कभी आपको कोर्ट कटहरी तक खींच कर ले जाती हैं. अक्सर कहा जाता है कि शादी इंसान की जिंदगी बदल देती है लेकिन कुछ शादी के बाद जिदंगी नकारात्मक रूप से बदल शादी है. जिसकी कई वजह होती है. जिसका पहला कारण है मंगल ग्रह. जिन बच्चों की जन्मकुंडली के तीसरे घर में खराब मंगल बैठा हो और इस स्थान पर चंद्रमा भी जुड़ जाए तो समस्या आन खड़ी होती है.

ऐसे हालात में कई बार बहू पिस जाती है. अगर बेटे की कुंडली में ऐसा योग है तो बहू पिसती है जैसे बेटे के साथ होने वाली परेशानियों को भोगना पड़ता है. इसीलिए कहा जाता है कि शादी से पहले लड़के लड़की की कुंडली में मंगल-चंद्र का संबंध तो नहीं है. क्योंकि इस मेल से जीवनसाथी खुश नहीं रह पाते हैं. इसी प्रकार दूसरा कारण यह है चौथे घर में कुंडली में पापी ग्रह का बैठना.

अगर पापी ग्रह कुंडली के चौथे घर में बैठ जाए तो शादी सिर्फ टूटती ही नहीं बल्कि कोर्टकचरी तक पहुंच जाती है. तीसरा कारण है कि कुंडली में पांचवे और बारंवा घर जब खराब होता है तब पुरानी यादें यानी अतीत की वजह से शादीशुदा जिंदगी खराब होती है. ये ऐसे मूल कारण है जिसकी वजह से शादी टूटती ही नहीं बल्कि दो जिंदगियां खराब हो जाती है.

गुरु मंत्र: पैसे की तंगी को दूर करने के अचूक उपाय

गुरु मंत्र: कुंडली में कोर्ट-कचहरी और मुकदमों से छुटकारा दिलाने वाले अचूक उपाय