नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में आज गुरुदेव जी डी वशिष्ट ने आज तांबे के बर्तन कष्टों को कैसे खत्म करते हैं, जल प्रवाह से परेशानी कैसे दूर होगी. इसके अलावा केसर का तिलक किसके लिए और क्यों जरुरी है, दिव्यांगो और कन्याओं को भोजन कराने से क्या लाभ मिलेंगे जैसे विषयों पर बात की.

सबसे पहले बात करते है तांबे के बर्तन कौन से योग में काम करते है. हमारा शरीर सूर्य कहलाता है जैसे सूर्य पर एक परत बनी हुई है उसी तरह हमारा शरीर भी मास से ढ़का हुआ है जिसके अंदर और बाहर कुछ नहीं आ-जा सकता. तांबे का इस्तेमाल ताकत को बढ़ाने के लिए काम आता है. रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर सोने से और सुबह उठने के बाद उस पानी को पीने से इंसान की शक्ति बढ़ती है.

मंगल और सूर्य की शक्ति को अपने शरीर से दूर करने के लिए तांबे का उपयोग किया जाता है.  इसके अलावा गुरुदेव ने आज तुला राशि के जातकों के बारे में भी बात की. तुला राशि वालों के लिए आज का दिन खट्टा मीठा रहेगा. शिक्षा और कामकाज में मन नहीं लगेगा. मौज मस्ती के साथ ही पारिवारिक सुख मिलना तय है. तांबे के बर्तन आपके कष्टों को कैसे खत्म करेंगे और दिव्यांगो की सेवा करने से आपको क्या फल मिलेगा इसके लिए देखिए गुरु वशिष्ट के बताए ये उपाए जो नीचे इस वीडियो में दिए गए है. 

गुरु मंत्र: कुंडली में हैं ऐसे योग तो आपको कोर्ट कचहरी चक्कर में पड़ सकते हैं आप

फैमिली गुरु: सावन की पूर्णिमा पर ये उपाय दूर करेंगे कुंडली दोष