नई दिल्ली. इंडिया न्यूज के खास प्रोग्राम गुरु मंत्र में आज स्लिप डिस्क से होने वाली बीमारी पर बात की जाएगी. एक खिलाड़ी को हड्डियों की परेशानी से अक्सर जूझना पड़ता है. खासकर हड्डियों के खिसकने की समस्या से अक्सर खिलाड़ियों को दो चार होना पड़ता है. लेकिन सबसे ज्यादा तकलीफ देता है स्लिप डिस्क जिसमेंं शरीर का कुछ हिस्सा काम करना बंद कर देता है.

स्लिप डिस्क में रीढ़ की हड्डी अपनी जगह से  खिसक जाती हैं और नसों के दबने से शरीर का कोई अंग दर्द करने लगता है. इस विषय को लेकर आज गुरु मंत्र में गुरु वशिष्ठजी ने बताया कैसे कुंडली में स्लिप डिस्क के लक्षण को पहचान सकते है. साथ ही हड्डियों के खिसकने का ग्रहों की चाल से क्या संबंध है.

गुरु वशिष्ठजी ने बताया कुंडली के अंदर केतु की अवस्था ही तय करती हैं की किस को स्लिप डिस्क होगा या नहीं. सात ग्रहों के मिश्रण से जो एनर्जी निकलती हैं उसे राहु नाम दिया गया. राहु से निकले किसी विचार को नेगेटिव और पॉजीटिव जो बनाता है उसे केतु कहते है. यहीं केतु तय करता है की किस की जीवम में हड्डियां कितनी जानदार रहेगी और किस की रीढ़ की हड्डी सीधी रहेगी.

आपकी कुंडली का खराब केतु आपको स्लिप डिस्क की बीमारी करता है. लोगों के बारेें में गलत सोच बनाना या किसी से जलन होना और दिमाग में गलत विचारों का आना ही आपके स्लिप डिस्क की बीमारी को जन्म देता है. नंसों की कमजोरी की वजह से शरीर में हड्डियों के खिसकने की वजह बनती है.

गुरु मंत्र: दिमाग और याद्दाश्त तेज करने वाले अचूक उपाय

गुरु मंत्र: शनि दोष, बुध दोष, बृहस्पति दोष और राहु दोष की वजह से याद्दाश्त होती है कमजोर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App