नई दिल्ली. शनिवार शनिदेव का प्रिय दिन है. आज के दिन शनिदेव को प्रसन्न करके आप अपनी बंद किस्मत का ताला खोल सकते हैं और जीवन में पनप रही सभी समस्याओं से निजात पा सकते हैं? ज्योतिष के अनुसार शनि चलते तो मंद गति से हैं परंतु ये मंद गति राजा को रंक बना देती है तथा रंक को राजा बना देती है तथा खोल देती है बंद किस्मत का ताला.
 
शनि हिन्दू ज्योतिष में नौ मुख्य ग्रहों में से एक हैं. जिन लोगों की साढ़े साती, शनि की दशा, महादशा, अंतरदशा चल रही है अथवा वे शनिदेव के कोप से पीड़ित हैं उनके लिए काजल को लगाने और दान करने का महत्व बढ़ जाता है. शनि के कुपित होने से वात, कफ रोग, कैंसर जैसे रोग होने लगते हैं. इन समस्याओं को कम करने के लिए काजल महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. शनिदेव की कृपा किसी जातक पर हो जाए तो उसे विजय, धन, काम सुख और आरोग्यता की प्राप्ति होती है.
 
काजल आंखों का श्रृंगार है. इससे आंखों की सुंदरता तो बढ़ती ही है साथ ही काजल बुरी नजर से भी बचाता है. इसे भी धर्म ग्रंथों में सौभाग्य का प्रतीक माना गया है. शनिवार के दिन शनिकृपा पाने का सरलतम माध्यम है काजल. इंडिया न्यूज के शो गुडलक गुरु में अध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा बताएंगे कैसे काजल चढ़ा कर शनिवार को खुश कर सकते हैं.
 
वीडियो में देखें पूरा शो