नई दिल्ली. नोटबंदी से ब्लैकमनी पर कैसे लगेगी लगाम? काले धन की अर्थव्यवस्था पर चोट करने के लिए मोदी सरकार की ओर से 500 और 1000 रुपये नोटों को अमान्य ठहराए जाने के बाद रीयल एस्टेट सेक्टर में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है.

इस फैसले के चलते मोटी पूंजी के कारोबार रीयल एस्टेट सेक्टर में तात्कालिक तौर पर मंदी का माहौल देखने को मिल सकता है. प्रॉपर्टी का सेक्टर ऐसा है, जहां लगभग एक तिहाई लेनदेन ब्लैकमनी होता है.

केंद्र सरकार की ओर से काले धन के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक के चलते कुछ वक्त के लिए पहले से ही मंदी में चल रहा प्रॉपर्टी मार्केट बुरी तरह लुढ़क सकता है. लेकिन, लंबे वक्त में इससे रीयल एस्टेट सेक्टर को मजूबती और स्थिरता मिलेगी.

प्रॉपर्टी सेक्टर में स्थिरता की उम्मीद इसलिए भी लगाई जा रही है क्योंकि मोदी सरकार ने रीयल एस्टेट रेग्युलेशन ऐक्ट, जीएसटी, बेनामी ट्रांजैक्शंस रोकथाम संशोधन ऐक्ट और एफडीआई से संबंधित सुधारों पर भी काम किया है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App