नई दिल्ली. आए दिन प्रॉपर्टी बाज़ार में धोखेबाज़ी, जालसाजी और फर्जीवाड़े की शिकायतें सुनने को मिलती रहती है. कहीं थोड़ी कम कहीं ज्यादा, लेकिन आज हम आपको जिस बिल्डर की जालसाजी दिखाने जा रहे है उसने सारी सीमाएं लांघ दी हैं. फर्जीवाड़े का आलम ये है कि उसने एक ऐसी जमीन पर लोगों को घर बेच दिए जो जमीन उसकी थी ही नहीं. एनसीआर के इस नामी बिल्डर का नाम है ‘औरीस इंफ्रास्ट्रक्चर’.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट के मुताबिक योगेश मलहोत्रा ने साल 2010 में औरीस इंफ्रा के गुड़गांव के सेक्टर 85 में एस्टर कोर्ट में फ्लैट खरीदा. साल 2010 से अबतक लाखों रूपये इस बिल्डर की जेब में जा चुके हैं. लेकिन योगेश उनका घर मिलना तो दूर, उल्टे योगेश पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
योगेश औरिस इंफ्रास्ट्रक्चर के एस्टर कोर्ट में घर खरीद कर अपना पैसा भी बर्बाद कर चुके हैं और घर की उम्मीद भी खो चुके है क्योंकि बिल्डर ने जिस जमीन पर योगेश को घर देने का वादा किया वो जमीन बिल्डर की है ही नहीं यानि धोखे की जमीन पर बिल्डर ने योगेश को फ्लैट बेच दिया. योगेश मलहोत्रा अकेले नहीं इनके जैसे सैंकड़ों ग्राहक औरिस बिल्डर की मनमानी का शिकार हुए हैं. हुआ क्या है अब जरा वो देखिए इंडिया न्यूज के शो घर एक सपना. वीडियो में देखे पूरा शो
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App