नई दिल्ली. परिवार के सदस्यों को अगर घर की वजह से किसी समस्या का सामना करना पड़ता है तो यह अपने आप में एक बड़ी चिंता का विषय है. आजकल घर में छिपे एक सनसनीखेज रहस्य को देखा जा रहा है. धरती के नीचे मौजूद जियोपैथिक स्ट्रैस से हार्मफुल एनर्जी से निकलती है जिससे बीमार होने के आसार बढ़ रहे हैं. इससे बीमारी तो लगती है साथ ही कई दिक्कतों से भी दो चार होना पड़ता है. 
 
जियोपैथिक स्ट्रैस ऐसे करता है असर
इस जियोपेथिक स्ट्रेस का प्रभाव जगह के हिसाब से पड़ता है. जैसे नार्थ इस्ट में अलग, साउथ इस्ट में है तो अलग. अगर आप नार्थ ईस्ट में हो तो घर में हानी हो सकती है. घर के साउथ ईस्ट में हो तो महिलाएं बीमार पड़ सकती है. साथ ही वित्तय दिक्कतें भी आ सकती है. साउथ वेस्ट में जियोपैथिक स्ट्रेस हो तो पूरी फैमली पर असर देखने को मिल सकता है. नार्थ वेस्ट में हो तो बच्चे डल होते है शादी में दिक्कतें आती हैं
 
इलाज का भी नहीं होता असर
जानकारी के अनुसार जियोपैथिक स्ट्रैस पर ज्यादा वक्त गुजारते है तो बीमार हो जाते है और चौंका देने वाली बात है कि इलाज कराने के बावजूद आराम नहीं पड़ता. 
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘घर एक सपना’ में शिल्पी डुडेजा आप को बताएंगी कि जियोपैथिक स्ट्रैस किस तरह घर को और परिवार के सदस्यो को प्रभावित करता है ?